‘मैंने पैसे लिए हैं, वो तेरे साथ जो चाहे करे’.. बेटी की जुबानी मां के जुल्मों की दास्तां

मां तो अपने औलाद के लिए भगवान होती है पर अगर यही मां ज्यादती करने लगें तो शायद उसके ज़ुल्मों से भगवान भी नही बचा सकते .. अपनी मां के ज़ुल्मों की शिकार हुई एक बेटी ने कुछ ऐसे ही दास्तांन सुनाई है जिससे सुनकर किसी की भी रूंह कांप जाएं।। मामला हरियाणा के सोनीपत का है.. जहां गन्नौर के एक गांव में मां-बेटी के रिश्ते को लांछित करने का मामला सामने आया है। आरोप है कि मां ने अपनी ही बेटी का 50 हजार रुपये में सौदा कर किसी दूसरे के साथ भेज दिया.. जहां व्यक्ति ने युवती से दुष्कर्म किया। बाद में किसी तरह युवती ने हिम्मत कर मामले से पुलिस को अवगत कराया। फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

ननिहाल ले जाने के बहाने मां ने कश्मीर ले गई बेटी को

मैंने उससे पैसे लिए हैं, अब वो तेरे साथ जो चाहे करे.. ये बोल थे उस मां के जिसने उसे जन्म दिया था.. मां के मुंह से ये बात सुनकर युवती के पैरों तले जम़ीन खिसक गयी क्योंकि वो तो मां के संग घर से ननिहाल जाने के लिए निकली थी । जीं हां असल में युवती के अनुसार ये वाक्या कुछ ऐसे है कि  10 मार्च 2016 को वह अपनी मां के साथ ननिहाल जाने के लिए निकली थी.. रास्ते में उसे गांव बांय निवासी रणसिंह, ईश्तयाक खान व बढ़ी निवासी सतबीर उर्फ सत्तू मिल गए। ईश्तयाक खान ही वो शख्स था जिसके माध्यम से पीड़िता की मां ने उसका सौदा किया था लेकिन तब तक पीड़िता इस बात से अंजान थी ..इसके बाद उसकी मां उसे लेकर कश्मीर पहुंच गई। जहां दोनों को अलग-अलग कमरे में रखा गया।

50 हजार में कर दिया बेटी का सौदा

पीड़िता के मुताबिक कश्मीर पहुचने पर कुछ देर बाद बांय गांव निवासी बाबुल उसके कमरे में आया और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा और जब पीड़िता ने शोर मचाया तो उसकी मां कमरे में आई और बताया कि उसने ईश्तयाक खान के साथ मिलकर 50 हजार रुपये में उसे बाबुल को सौंप दिया हैं।यह कहकर उसकी मां कमरे से चली गई.. जिसके बाद बाबुल ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता का कहना है कि बाबुल कई दिनों तक उसके साथ दुष्कर्म व मारपीट करता रहा। इसके कुछ दिन बाद मां अपनी बेटी को लेकर दिल्ली पहुंच गई।

दिल्ली पहुंचकर निकल पाई इस चंगुल से

दिल्ली में ईश्तयाक खान ने पीड़िता को एक फैक्ट्री में नौकरी लगवा दिया..वहीं फैक्ट्री में उसकी मुलाकात बिहार निवासी शशि के साथ हुई। जब पीड़िता ने उसे अपनी आपबीती बताई तो वह उसे दिल्ली स्थित अपने मकान में ले गया और उसके विवाह कर लिया। लेकिन कुछ दिन बाद पीड़िता की मां व इश्तयाक खान उनके घर पहुंच गए और उसके व पति के साथ मारपीट कर वहां से चले गए। मारपीट से घबरा कर पीड़िता व उसका पति दूसरे मकान में चले गए। इसके बाद पीड़िता ने हिम्मत जुटा कर अपने पिता से फोन पर संपर्क किया और मामले से अवगत करवाया। पिता के कहने पर पीड़िता गन्नौर पहुंची और सभी आरोपियों के खिलाफ थाना गन्नौर में शिकायत दी।

फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है पीड़िता की शिकायत पर आरोपी मां और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी।