वाशिंगटन: पिछले साल हुए पनपा पेपर घोटाले के बारे में तो आप सभी जानते होंगे। कई लोगों ने फर्जी कम्पनियों के जरिये अपने टैक्स बचाने का काम किया था। अब पनामा के बाद बारी पैराडाइस पेपर की है। फिर से एक बार टैक्स चोरी करके कला धन छुपाने की कई फाइलें सामने आयी हैं। आपको बता दें इन फाइलों में विश्व के कई प्रभावशाली व्यक्तियों के नाम शामिल हैं। इन निवेशकों में ब्रिटेन के महारानी की निजी जागीर भी शामिल है।

अमेरिका के प्रतिबन्ध के बाद भी कर रहे रुसी कम्पनी से व्यापार:

इसके अलावा वर्तमान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के वाणिज्य मंत्री की भी एक ऐसी कंपनी का पता चला है जो रूस के साथ व्यापार करती है, जिसपर अमेरिका ने प्रतिबन्ध लगाया हुआ है। जानकारी के लिए आपको बता दें यह खुलासा अमेरिका के इंटरनेशनल कॉन्सोर्टियम ऑफ इन्वेस्टीगेटिव जर्नलिस्ट्स (आईसीआईजे) पैराडाइज पेपर्स में किया गया है। ध्यान देने वाली बात यह है कि पिछले साल इसी संस्था ने पनपा पेपर के जरिये कई अहम राज खोले थे।

आर्थिक असमानता और टैक्स ख़त्म करने के वादों के साथ आये थे सत्ता में:

इस रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ है कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के लिए पैसा जुटाने वाले और सीनियर एडवाइजर स्टीफन ब्रोनफमैन ने पूर्व सीनेटर लियो कोल्बर के साथ भी करीब 60 मिलियन डॉलर का राशि टैक्स हेवन देशों में जमा की की है। हलांकि इस रिपोर्ट में ये नहीं बताया गया कि रॉस, ब्रोनफमैन या एलिजाबेथ की प्राइवेट प्रॉपर्टी अवैध तरीके से जुटाई गई। ब्रोनफमैन का नाम आने के बाद उम्मीद है कि ट्रूडो की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दो साल पहले सत्ता में ट्रूडो आर्थिक असमानता और टैक्स ख़त्म करने के वादों के साथ ही आये थे।

इस लिस्ट में शामिल है कुल 180 देशों के नाम:

आपको बता दें इस लिस्ट में कुल 180 देशों के नाम हैं। कंज़र्वेटिव पार्टी के पूर्व डिप्टी चेयरमैन और बड़े दानदाता, लॉर्ड एश्क्रॉफ्ट ने अपने विदेशी निवेश के प्रबंधन में नियमों की अनदेखी की हो सकती है। ट्रंप के वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस ने एक जहाजरानी कंपनी में निवेश बरक़रार रखा जो रूस की एक ऊर्जा कंपनी के लिए गैस और तेल का परिवहन करके सालाना करोड़ों डॉलर कमाती है। व्लादिमीर पुतिन के दामाद और अमरीका के प्रतिबंधों का सामना कर रहे दो लोगों का भी निवेश रूस की ऊर्जा फर्म में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.