गुजरात प्रधानमंत्री मोदी के लिए नहीं बल्कि बीजेपी के लिए भी गुजरात का विधानसभा चुनाव अब इज्जत का सवाल बन गया है। एक तरफ जहां कांग्रेस यहां अपने युवराज राहुल गांधी के दम पर जमकर प्रचार करने में लगी हुई है तो वहीं दूसरी तरफ हार्दिक पटेल जैसे पट्टीदारों के नेता भी बीजेपी के लिए मुश्किलें खड़ी करने वाले है। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए गुजरात चुनाव का मोर्चा अब खुद पीएम मोदी ने संभाला है। पीएम मोदी यहां लगातार रैलियां करके लोगों में विश्वास दिला रहे हैं। इसी वजह से पिछले कुछ समय में यहां कई नई नई योजनाओं की शुरुआत की गई है। Satta bazaar on Gujarat election 2017.

सट्टा बाज़ार का अनुमान

वैसे तो लगभग हर चुनाव में जीत और हार के लिए सर्वे कराये जाते हैं। ऐसा ही एक सर्वे गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर भी किया गया था, जिसमें प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने का अनुमान लगाया गया था। लेकिन चुनाव में सबसे सटीक अनुमान जिनका माना जाता है वो सट्टेबाज होते हैं। सट्टेबाजों जिस पार्टी पर ज्यादा पैसा लगते हैं उस किसी पार्टी की जीत की संभावना सबसे ज्यादा होती है। गुजरात के सट्टेबाज तो वैसे भी काफी मशहूर माने जाते हैं। वो तो क्रिकेट के मैच से लेकर चुनाव तक सभी पर सट्टा लगाते हैं और उनका अनुमार हमेशा ही सही होता है।

गुजरात में बीजेपी सरकार

सट्टेबाजों ने इस बार जिस तरह से पैसा लगाया है उसके मुताबिक, इस बार का गुजरात चुनाव कड़ा होने वाला है। क्योंकि बीजेपी को इस बार कांग्रेस आक्रामक तरीके से चुनौती देने वाली है। दरअसल, राज्य के सटोरियों के मुताबिक बीजेपी जनता की फेवरेट है। यानि सट्टेबाज बीजेपी की जीत की ज्यादा का अनुमान लगा रहे हैं। आपको बता दें कि चुनाव की तारीखों का ऐलान के बाद से ही सटोरियों ने बीजेपी की जीत का अनुमान लगाना शुरु कर दिया है। बीजेपी और कांग्रेस के इस मुकाबले में सटोरियों की नजर में बीजेपी जीत रही है। सट्टेबाज अपने मजबुत खुफिया नेटवर्क के जरिए सटीक अनुमान लगाने के लिए जाने जाते हैं।

बीजेपी और मोदी के लिए जरुरी है गुजरात

चुनाव आयोग ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा कर दी है। इसके मुताबिक, हिमाचल प्रदेश में चुनाव एक चरण में 4 नवंबर को होगा और वहीं गुजरात में चुनाव दो चरण में 13 दिसंबर और 17 दिसंबर को होगा। दोनों राज्यों में मतगणना 20 दिसंबर को होगी और दोनों राज्यों के नतीजे इसी दिन जनता के सामने आयेंगे। गौरतलब है कि कांग्रेस के लगातार हमलों और वहां के स्थानिय नेताओं के सहयोग से गुजरात का विधानसभा चुनाव काफी अहम हो गया है। सटोरियों के मुताबिक राज्य में बीजेपी के खाते में 102 से 105 सीटें और कांग्रेस को 64 से 66 सीटें मिल रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.