नई दिल्ली: गुजरात में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जो घमासान चल रहा है, उसमें आईएस आतंकियों के अस्पताल में काम करने के आरोप को लेकर माहौल और गर्म हो गया है। आज केन्द्रीय मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने प्रेस कांफ्रेंस करके कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि अभी तक तो हम केवल यही कहते थे कि ‘कांग्रेस का हाथ भ्रष्टाचार के साथ’ लेकिन अब लोग कहेंगे ‘कांग्रेस का हाथ आतंकवाद के साथ।‘ नकवी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि सोनिया गाँधी के राजनीतिक सलाहकार उस अस्पताल से जुड़े थे, जिस अस्पताल में आतंकी नौकरी करते थे।

2014 में ही दे चुके हैं अस्पताल के ट्रस्टी पद से इस्तीफ़ा:

अहमद पटेल भरूच अस्पताल के कर्ता-धर्ता थे। उन्होंने कहा कि हम राजनीति नहीं बल्कि राष्ट्रनीति कर रहे हैं। आतंकियों को संरक्षण देने के मामले में कांग्रेस को जवाब देना चाहिए। इसका जवाब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी जवाब दें। वहीँ पूर्व केन्द्रीय मंत्री पी. चिदंबरम ने बीजेपी की तरफ से अहमद पटेल काइस्तीफ़ा मांगे जाने पर हैरानी जताई है। उन्होंने कहा कि अहमद पटेल अस्पताल के ट्रस्टी पद से 2014 में ही इस्तीफ़ा दे चुके हैं। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने शुक्रवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया था कि एटीएस द्वारा गिरफ्तार किये गए आतंकी अहमद पटेल के संरक्षण वाले अस्पताल में नौकरी करते थे।

प्रणव मुखर्जी से करवाया था अस्पताल का उद्घाटन:

इस मामले को लेकर उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी, उपाध्यक्ष राहुल गाँधी और अहमद पटेल से इस्तीफे की माँग की। आपको बता दें हाल ही में एटीएस ने दो आईएस के अताकियों को गुजरात के सूरत से गिरफ्तार किया था। सूत्रों के अनुसार पकड़े गए ये आतंकी अहमदाबाद में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फ़िराक में थे। सीएम रूपाणी ने कांग्रेस पर रोप लगाया कि खूंखार आतंकी जिस भरूच अस्पताल में नौकरी करता था, उसके कर्ता-धर्ता अहमद पटेल हैं। कांग्रेस ने अपनी सफाई में यह कहा कि अस्पताल से 2014 में ही अहमद पटेल इस्तीफ़ा दे चुके हैं। साल 2016 में राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से इस अस्पताल का उद्घाटन करवाया गया था।

बीजेपी की तरफ से लगाये जा रहे सभी आरोप हैं बेबुनियाद:

उस कार्यक्रम का आयोजन अहमद पटेल ने ही करवाया था। रूपाणी ने इस मामले में अहमद पटेल से सफाई माँगी है। वहीँ आज नकवी ने कांग्रेस पर सवाल दागते हुए कहा कि अब कांग्रेस ही बताये कि अहमद पटेल अस्पताल से जुड़े हुए थे या नहीं। दूसरी तरफ अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को अहमद पटेल ने एक सिरे से ख़ारिज कर दिया। उन्होंने अपने बचाव में कहा कि मेरे ऊपर बीजेपी की तरफ से लगाये जा रहे सभी आरोप बेबुनियाद हैं। मैं और मेरी पार्टी एटीएस द्वारा आतंकियों के पकड़े जाने पर उनकी तारीफ करते हैं। हम लोग आतंकियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाई करने की माँग करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.