राशिफल

चप्पल टूटना या खोना, आने वाले दुर्भाग्य का संकेत है.. तुरंत करें ये उपाय

सभी ग्रहो में शनि को सबसे क्रूर ग्रह माना जाता है जिसके प्रभाव से इंसान क्या देवता भी बच ना पाए हैं.. लेकिन अपने दंड का पात्र बनाने से पूर्व कुछ संकेत देकर शनिदेव इसकी सूचना आपको पहले दे देते हैं। इसलिए अगर इसे समझकर इसके उपाय कर लें तो अपनी बदकिस्मती से आप बहुत हद तक बच सकते हैं। आज हम आपको अशुभ शनि के कुछ अन्य संकेत बता रहे हैं साथ ही उनसे बचने के उपाय भी बता रहे हैं।

ये हैं शनि के कुप्रभाव के पूर्व मिलने वाले संकेत

शनि किसी भी व्यक्ति पर अपना असर डालने से पूर्व व्यक्ति को कुछ संकेत देते हैं। यह संकेत एक प्रकार की चेतवानी होती है की व्यक्ति अपने कर्म सुधारे और जीवन के मार्ग पर कर्म व धर्म अपनाकर बूरे कर्म व अधर्म का परित्याग करे। शनि के कुप्रभाव के पूर्व मिलने वाले संकेत हैं…

·        1 बार बार चप्पल का टूटना

चूंकि शनि का प्रभाव पैरों पर होता है, इसलिए अचानक अगर चप्पल टूटने लगे तो समझें कि शनि का ही कुप्रभाव है और आने वाले जीवन में आपको एक नहीं कोई समस्याएं झेलनी पड़ेंगी। ऐसे में जितनी जल्दी संभव हो शनिदेव को प्रसन्न करने के उपाय जरूर करें।

·        2 चप्पल का खोना

इसके अलावा चप्पल का खोना भी आपके भविष्य के लिए बुरा संदेश देता है।इसलिए अगर आपकी चप्पल बार-बार खोने लगे या चोरी हो जाए तो यह शनि के कुप्रभाव और भविष्य में आने वाले संकटों का सूचक है।

·        3 नौकरी और कार्यक्षेत्र में आकस्मिक नुकसान

अगर नौकरी, व्यापार या जिस भी क्षेत्र में आप कार्यरत हैं, अचानक उसमें सबकुछ आपके विपरीत होने लगे तो समझें कि शनिदेव आपसे प्रसन्न नहीं हैं और निकट भविष्य में आपको और भी बुरी परिस्थितियों का सामना करना पड़ेगा।

·        4 अचानक आर्थिक नुकसान

शनिदेव के कृपापात्र आर्थिक रूप से संपन्न भी रहते हैं और आर्थिक नुकसान से भी बचे रहते हैं। इसलिए अगर किसी भी प्रकार से अचानक आर्थिक नुकसान की स्थिति पैदा हो जैसे व्यापार में घाटा होना, परिवार में किसी का बीमार पड़ना, आक्समिक दुर्घटना, किसी से धोखा मिलना, चोरी होना आदि तो समझें आपके जीवन में शनि की बुरी दशाओं का दौर शुरु हो चुका है।

ऐसे में आपको बार-बार कर्ज लेने की भी जरूरत पड़ेगी और जल्दी कर्ज भी चुका पाने की स्थिति में आप नहीं होंगे। परिस्थितियां आपको मानसिक रूप से परेशान करेंगी और इस कारण आप शारीरिक अस्वस्थता के शिकार भी हो सकते हैं ।शनि की यह बुरी दशा कुछ ऐसी होती है कि आप अपनी मुश्किलों से निकलने का रास्ता ढूंढेंगे भी, तो उसमें भी परेशानियां ही आएंगी। अगर आप कर्ज चुकाने का प्रयास करेंग़े तो वह भी किसी ना किसी कारण चुका पाने में सफल नहीं हो सकेंगे, वे कारण कुछ ऐसे होंगे कि आपने कभी ऐसा होने की कल्पना भी नहीं की होगी।

ऐसे बच सकते हैं शनि के कुप्रभाव से

 

शनि को न्याय का देवता माना जाता है, इसलिए शनि के कुपित होने के कारण कुछ भी बुरा होने का अर्थ है कि आपके किसी अन्य बुरे कर्म का फल इस प्रकार मिल रहा है। इसलिए अपने कार्यों का विश्लेषण करते हुए शनिदेव से अपनी भूलों-गलतियों के लिए क्षमा प्रार्थना करें और शास्त्रीय उपाय भी करें। इनमें कुछ उपाय ये हैं..

1 इसमें सबसे प्रभावशाली होता है गरीबों-जरूरतमंदों की मदद करना। आप कितने भी शनि को शांत करने के उपाय करें, यह उन सबसमें सबसे ज्यादा प्रभावशाली और जल्दी प्रभाव दिखाने वाला होता है।

2 इसके अलावा शमी और पीपल के पेड़ की नियमित पूजा औक संध्या काल में इसके नीचे सरसों तेल का दीपक जलाना भी आपको भविष्य की परेशानियों से बचाने में कारगर होगा।

3 शनिवार के दिन किसी पात्र में सरसों का तेल रखकर उसमें अपना मुख देखकर दान करना भी शनि को जल्दी प्रसन्न करता है।

4 मंगलवार और शनिवार को हनुमान भगवान की पूजा अराधना करें इससे भी शनि के अशुभ प्रभाव से मुक्ति मिलती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close