विशेष

ऐय्याशी और ज़ेहाद का पाकिस्तानी अड्डा है बन गया है जेएनयू;

जेएनयू  मैं पढने वाली पीएचडी की छात्रा ने जेएनयू के एक छात्र नेता पर बलात्कार का संगीन आरोप लगाया है.    मामला  इस वर्ष जून में एक मराठी फिल्म  देखने दिखाने को लेकर शुरू हुआ  था और अंजाम बलात्कार तक आ पहुंचा.  पुलिस ने पिडिता के बयान पर बलात्कार का केस तो दर्ज किया है  पर अब तलक  बलात्कार के आरोपी अनमोल रतन की अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई है.

बलात्कार की वारदात  जेएनयू में हुई

जिस जेएनयू मैं कन्हैया कुमार और उसके साथियों  कश्मीर “कश्मीर मांगे आज़ादी” के नारे  लगाये थे, उसी जेएनयू मैं ये बलात्कार का कांड हुआ है . नारे वाली घटना के बाद से ही जेएनयू का नाम पढ़ाई-लिखाई के लिए कम और विवादों के लिए ज्यादा  चर्चे मैं रहता है. जवाहरलाल नेहरू विश्वविदयालय यानी जेएनयू , देश की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटियों मैं एक है और आज फिर बदनामी की  घटना के कारण  खबरों मैं बनी है..

लेफ्ट संगठन आइसा का कार्यकर्ता है अनमोल रतन

ये बलात्कार की  घटना है.  एक २८ साल की  छात्रा ने अनमोल रतन नाम के साथी छात्र पर बलात्कार का  संगीन आरोप लगाया है. अनमोल रतन लेफ्ट संगठन ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोशिएशन यानी आइसा का एक सक्रिय कार्यकर्ता है.  पीएचडी पढने वाली पिडिता की शिकायत के मुताबिक बलात्कार की ये कहानी एक मराठी फिल्म को देखने से शुरू हुई थी.

पीड़ित लड़की ने जून माह मैं फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा था

जून  माह में फेसबुक पर पीड़ित लड़की ने एक पोस्ट लिखा था कि वो मराठी फिल्म “सैरत” की फिल्म देखना चाहती है. आगर किसी के पास फिल्म की सिडी हो तो उसे बताए. अनमोल रतन ने लड़की को मैसेज किया कि वो मराठी फिल्म  है उस के पास. पुलिस की दर्ज शिकायत के मुताबिक अनमोल रतन खुद अपने साथ परसों रात  उसे  जेएनयू के Bरहम्पुत्र हॉस्टल ले आया.

आइसा ने बयान जारी किया अनमोल रतन पर

अनमोल रतन ने हॉस्टल में उसे पहले सॉफ्ट ड्रिंक पिलाया और फिर उसके साथ बलात्कार  के संगीन जुर्म को अंजाम दिया. दिल्ली के वसंत कुंज पुलिस थाने में बलात्कार की रिपोर्ट दर्ज हुई है

Related Articles

Close