लंदन में गिरफ्तार हुआ भारत का भगोड़ा विजय माल्या, लेकिन हो गई….

नई दिल्ली – मंगलवार को भारत का भगोड़ा विजय माल्या लंदन में गिरफ्तार हो गया, लेकिन उसे महज घंटे में ही जमानत मिल गई और वह एक बार फिर से भारत के हाथ से निकल गया। डीडी न्यूज ने इस संबंध में पहले खबर दी थी कि विजय माल्या को मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया है। लेकिन जैसे ही अन्य मीडिया माध्यमों को ये बात पता चली उसे जमानत मिल चुकी थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक उसे घंटे भर में ही जमानत मिल गई थी। vijay mallya arrested in london.

मनी लांड्रिंग के मामले में गिरफ्तार हुआ विजय माल्या

मनी लांड्रिंग में मामले भगोड़ा घोषित हो चुके विजय माल्या को लंदन में आज दोपहर को गिरफ्तार कर लिया गया था। लेकिन वह कुछ ही घंटों में एक बार फिर से भारत और पूरी कानून व्यवस्था को ठेंगा दिखाते हुए फिर से गायब हो गया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सीबीआई ने भी इस बात की पुष्टि कर दी थी कि लंदन में विजय माल्या को गिरफ्तार किया गया है। लेकिन उसे कुछ ही घंटों में जमानत भी मिल गई है। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक माल्या की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट लंदन में दोपहर 2 बजे, भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे पेशी के बाद जमानत मिल गई है।

क्या है विजय माल्या का मामला?

आपको बता दें, इसी साल 19 अप्रैल को विजय माल्या को लंदन में गिरफ्तार किया गया था, लेकिन उस वक्त भी उसे कुछ ही घंटों बाद जमानत देकर छोड़ दिया गया था। विजय माल्या भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपए का कर्ज लेकर फरार है। वह इन बैंकों का कर्ज चुकाए बिना मार्च 2016 में लंदन भाग गया था। वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में विजय माल्या को भारत लाने के लिए प्रत्यर्पण केस की सुनवाई 20 नवंबर को होनी है, जिससे भारत को काफी उम्मीदें हैं।

भारत का भगोड़ा है विजय माल्या

माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस पर करीब 9000 करोड़ रुपये का कर्ज है। यह कर्ज एसबीआई की अगुवाई वाले 17 बैंकों के समूह ने दिया कांग्रेस की सरकार में दिया था। पिछले साल मार्च में माल्या भारत से भाग गया था। माल्या दो मार्च 2016 को भारत से ब्रिटेन चला गया था। सीबीआई ने उनके खिलाफ दो मामले दर्ज किए हैं। पहला मामला आईडीबीआई से तो दूसरा मामला भारतीय स्टेट बैंक की अगुआई वाले समूह से जुड़ा है। माल्या भारतीय बैंकों से 9 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का कर्ज है। वह भारत छोड़कर काफी वक्त से लंदन में रह रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.