नरक सा जीवन हैं नॉर्थ कोरिया में : सबूत हैं ये बातें जिन्हें जानकर आप रह जायेंगे दंग

दुनिया को बेहतर बनाने की कोशिश की जा रही है, वहीं कई ऐसी जगहें भी हैं जहां बुनियादी मानवाधिकार भी जीवित नहीं है। निश्चित ही, ऐसी चर्चा होने पर North Korea का नाम सबसे पहले आता है। देखिए, देश से जुड़े कुछ ऐसे कड़वे सच जो आपको खुशी देंगे कि आप भारत में रहते हैं…

North Korea में लोगों को हफ्ते में सिर्फ 6 दिन ही काम नहीं करना पड़ता है, बल्कि उन्हें एक दिन का ‘वॉलनटिअर’ वर्क भी करना होता है। हां, और यह वर्किंग डे के नंबर्स को 7 कर देता है।

एक तरफ विश्व को शासन के वक्त, किम जोंग II ने अपनी बायॉग्रफी रिलीज की जिसमें उनकी लाइफ के अनोखे फैक्ट्स थे। दावा किया गया कि उनका जन्म डबल रेनबो के नीचे हुआ और इस जन्म से आसमान में एक नया सितारा पैदा हुआ। बायॉग्रफी के जरिए, वह चाहते थे कि जनता उन्हें ईश्वर के रूप में माने। वह दावा करते थे कि उनके अंदर मौसम को नियंत्रित करने की क्षमता है।

Korea8

North Korea में इस वक्त 2016 नहीं चल रहा है। North Korea में जूश कैलेंडर को फॉलो किया जाता है, जिसकी शुरुआत 1997 में हुई थी। वहां साल की गिनती किम II सुंग के जन्म से होती है

North Korea के हर घर में सरकार द्वारा नियंत्रित रेडियो लगा हुआ है। नागरिकों को इसे बंद करने की अनुमति नहीं है।

देश में, कुछ अपराधों के लिए माफी जैसा शब्द है ही नहीं। इसकी कीमत सिर्फ जान है। अगर किसी के पास बाइबल पाई गई या कोईइ पॉर्न, साउथ कोरियाई फिल्म देखता पकड़ा गया, उसकी सजा मौत है, माफी नहीं।

किसी को भी गरीबों की तस्वीर क्लिक करने का अधिकार नहीं है, खासतौर से, टूरिस्ट को… देश मानता है कि गरीबों की तस्वीरें देश की तस्वीर को धक्का पहुंचाती हैं।

अगर गरीबों की बात करें, North Korea की लगभग पूरी आबादी बेहद गरीबी में जी रही है।

North Korea में 8 जुलाई और 17 जुलाई को किसी तरह का सेलिब्रेशन करने की इजाजत नहीं है, बर्थडे की भी नहीं… वजह? क्योंकि किम II सुंग और किम जोंग II की मौत क्रमशः इन्हीं दोनों दिन हुई थी।

टूरिस्ट को मोबाइल लेकर देश में आने की इजाजत नहीं है।

टूरिस्ट को मोबाइल लेकर देश में आने की इजाजत नहीं है। मोबाइल को एयरपोर्ट पर ही जब्त कर लिया जाता है और टूरिस्ट की वापसी के वक्त ही दिया जाता है।

यही नहीं, टूरिस्ट स्थानीय लोगों के साथ बातचीत भी नहीं कर सकते। वह लगातार गाइड के सुपरविजन में रहते हैं अकेले उन्हें अकेले कहीं जाने या एरिया को एक्सप्लोर करने की इजाजत नहीं होती है।

North Korea ने टीवी पर सिर्फ 3 चैनलों को इजाजत दी है। धरती की सबसे दुखद जगह है ये!

Korea12

देश में किसी को भी गाड़ियां खरीदने की इजाजत नहीं है। हां, यह काननू सरकारी अधिकारियों और मिलिट्री ऑफिशल के लिए नहीं है।

श में किसी तरह की इंटरनेट सेवा नहीं है। सिर्फ वीआईपी लोगों को ही इंटरनेट सर्फ करने का विशेषाधिकार प्राप्त है। देश का अपना ऑपरेशनल सिस्टम है जिसका नाम रेड स्टार है।

नॉर्थ कोरियन पूरी तरह से दुनिया से कटे हुए हैं।

नॉर्थ कोरियन पूरी तरह से दुनिया से कटे हुए हैं। न्यूजपेपर्स, मैगजीन और न्यूज चैनल्स बाहरी दुनिया की किसी भी चीज को कवर नहीं करते। वह सिर्फ North Korea को ही महिमामंडित करने का काम करते हैं। नागरिक सच में झूठ में जी रहे हैं।

अधिकतर सड़कों पर पब्लिक स्पीकर्स लगाए गए हैं। प्रोपैगेंडा किसी भी वक्त शुरू हो सकता है और नागरिकों को उसका पालन करना ही होगा

Korea15

लगभग 2.5 लाख नॉर्थ कोरियन को जेल में डाला हुआ है। इन कैंप्स को इंलेक्ट्रिग फैंसिग कर घेरा गया है।

हां, एक नागरिक क्या पहनता है, North Korea इसे भी कंट्रोल करता है। उदाहरण के तौर पर देश में जींस पहनना गैर कानूनी है।

किम जोन-उंग ने अपने अंकल के मरवा दिया था और निर्वस्त्र कर कारागार में 120 भूखे कुत्तों के आगे डाल दिया था।

Korea6

North Korea एकमात्र नेक्रोक्रेसी वाला देश है, जिसका मतलब है कि यह आज भी एक मर चुके शासक के अधीन काम करता है।

Korea19

Pleasure Squad

North Korea ने 2000 महिलाओं की ‘Pleasure Squad’ बना रखी है, इसका वही मतलब है जो आप समझ रहे हैं।

यहां के बच्चे इतिहास के नाम पर सिर्फ अपने ही देश के बारे में पढ़ाते हैं और किम जोंग I, किम जोंग II की बहादुर गाथाएं…

North Korea की हर इमारत ग्रे कलर से पेंट होनी चाहिए, ऐसा मेंडेट है। उनपर नेताओं की तस्वीरें भी होनी चाहिए।

North Korea में हर 5 साल बाद चुनाव होते हैं लेकिन वहां सिर्फ एक ही कैंडिडेट मैदान में होता है। अगर कोई नागरिक उस एकमात्र कैंडिडेट के खिलाफ वोट करना चाहता है तो वह उसका नाम काट सकता है वह भी बिना किसी सीक्रेसी के…

Korea23

यहां  के पुरुष नागरिकों को जबरन किम जोंग-उन की तरह हेयरस्टाइल रखना होता है।  सच में!

North Korea ने साउथ कोरियन को ललचाने के लिए किजोंग डोंग सिटी बनाई। यह एक डमी शहर था- यहां कोई रहता नहीं था लेकिन  इसे चमकाने के लिए खास कोशिश की।

North Korea अपने नागरिकों पर तीन जेनरेशन की सजा का कानून भी लागू करता है। इसके मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति जुर्म करता है तो उसकी अगली दो पीढ़ियां भी उसका परिणाम झेलेंगी। कई बार इसका असर यह होता है कि तीन पीढ़िया अपनी जिंदगी जेल में काटती हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.