ये कैसा राष्ट्रगान गा रहे हैं ओवैसी?

हमेशा विवादस्पद बयानबाजी  और उलूल जुलूल जवाबों के कारण सुर्ख़ियों में रहने वाले   AIMIM के नेता असद्दुदीन ओवैसी ने खुद के लिये एक नया बखेड़ा खड़ा कर लिया है ।

आप की जानकारी के लिये बता दें की असद्दुदीन ओवैसी ने ‘भारत माता की जय ‘ कहने पर  ऐतराज़  जताते हुये कहा था की अगर कोई उन की गरदन पर चाकू की नोक भी रखेगा तो  वो भारत माता की जय नहीं  कहेंगे

इसी तरह राष्ट्र विरोधी भाव  से ग्रसित हो कर, आज़ादी के के ७० वीं वर्षगांठ पर ओवैसी  हैदराबाद स्थित अपने पार्टी ऑफिस पर झंडा फहराने पहुंचे .  इसी राष्ट्रविरोधी भाव से ग्रसित होने के कारण वो राष्ट्रगान भी  भूल जाते हैं.  उन्हे “विंध्य हिमाचल यमुना गंगा उच्छलय जलधि तरंगा” वाली लाईन याद ही नहीं रहती है.

और बात यहीं तक सिमित नहीं है,  इस विडियो मैं आप देख पायेंगे की ओवैसी  तिरंगा झंडा, ध्वजारोहन से पहले अपने हाथों से ही  खोल रहे हैं जबकि  ध्वजारोहन के दौरान ध्वज  तय की गयी ऊँचाई पर पहुंचने के बाद स्वतह ही खुल जाता है।

यूं तो ओवैसि हर वक़्त भारत के संविधान का जिक्र करते हैं पर भारत के संविधान  को कितना जानते हैं और राश्ट्रगान से कितना वास्ता रखते हैं, आप इस विडियो मैं साफ़ देख पायेंगे ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.