इंसानियत बची है तो सोशल मीडिया पर गंदगी फैलाने से पहले तस्वीर के पीछे की हकीकत जानिए

सोशल मीडिया ने हर व्यक्ति को अपने विचार और भावनाओं को व्यक्त करने की सहुलियत दी है..इसके माध्यम से आप अपनी बात तस्वीर और तथ्यों के जरिए आसानी से रख सकते है पर लोग इसी सहुलियत का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं और बिना किसी बात की सच्चाई जाने तथ्यों और तस्वीरों के प्रचार प्रसार में लग जाते हैं। इस होड़ में लोग ये भी नही ध्यान रखते कि वो किसी की मां, बहन और बेटी की इज्ज्त से खिलवाड़ कर रहे हैं। आए दिन किसी महिला, लड़की की तस्वीरों के साथ चटकारें वाली खबरें सोशल मीडिया पर परोसी जाती है और लोग अपनी इंसानियत भूल उसका विश्लेषण करने में लग जाते हैं। हाल ही में सोशल मीडिया पर योग गुरू बाबा रामदेव के साथ एक महिला की तस्वीर पेश कर लोगों ने ऐसी अभद्रता का परिचय दिया है। पर क्या आप जानते हैं इस तस्वीर के पीछे की वास्तविक सच्चाई क्या है? .. नही तो, आज हम आपको वही बताने जा रहे हैं ताकि अगर आपने भी ऐसी कुछ गंदगी फैला रखी है तो उसे समेट लें।

बीते कुछ दिनों में फेसबुक, ट्वीटर, वाह्टसएप के अलावा अन्य साइटों पर रामदेव की एक मह‌िला के साथ वायरल तस्वीर पर कई तरह के चुटकुले भी बनाए जा रहे हैं। यहां तक कि लोगों ने यह भी कह दिया कि राम रहीम के बाद इस बाबा की बारी है यानि लोगों ने बिना सच को जाने बाबा रामदेव के साथ उस महिला के चरित्र पर भी सवाल उठ दिए पर लोग ये नही जानते कि उन्होनें ना सिर्फ अपनी ओछी मानसिकता का परिचय दिया है बल्कि इंसानियत को भी शर्मसार किया है क्योंकि इस तस्वीर का सच तो बिल्कुल अलग है।

ये है महिला के साथ बाबा रामदेव की तस्वीर के पीछे की हकीकत

दरअसल सोशल मीडिया पर मह‌िला के साथ बाबा रामदेव की वायरल पोस्ट वर्ष 2014 का है। उस वक़्त जब पहली बार यह तस्वीर सामने आई थी तब रामदेव ने बताया था, क‌ि उनका उस मह‌िला के साथ क्या संबंध है। बाबा रामदेव के फेसबुक पेज पर दी गई सफाई में उसे ‘बेटी’ कहते हुए लिखा था क‌ि

दुष्प्रचार करने वालों कुछ तो शर्म करो !यह बहन, जिसका नाम प्रीती है, आयु 27 वर्ष है, cancer से पीड़ित है, जीवन और मौत के बीच संघर्ष कर रही है | पतंजलि योगपीठ के फाउंडर मेंबर के परिवार की इस बहन को वेदांता अस्पताल में मिलकर आशीर्वाद दिया, प्राणायाम सिखाया और आयुर्वेदिक औषधियां दीं ।ऐसे रोगियों के बारें में दुष्प्रचार करने वालों कुछ तो शर्म करो । यदि ये महिला आपकी माँ, बहन, बेटी होती तो क्या आप ऐसे ही भद्दे कमेंट्स करते

– स्वामी रामदेव

जी हां.. शायद अब तस्वीर की सच्चाई जानकर आपको ये समझ आ गया होगा कि जाने अनजाने में लोग इंसानियत की हदें पार कर देते हैं। इसलिए आगे से ऐसी कोई भी तस्वीर शेयर करते वक्त उसके पीछे की हकीकत

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.