अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले का बदला, हमले के मास्टरमाइंड अबु इस्माइल को किया ढेर

श्रीनगर – आतंकवादी भारत में आये दिन पाकिस्तान के इशारों पर हमले करके दहशत फैलाने का काम करते हैं। ऐसा ही एक हमला इसी साल 10 जुलाई की रात को श्रीनगर से जम्मू जाते हुए अमरनाथ यात्रियों की बस पर अनंतनाग में हुआ था। इस हमले के पीछे लश्कर का हाथ था। हमले को लश्कर आतंकी इस्माइल ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। गुरुवार को सुरक्षा बलों ने अमरनाथ श्रद्धालुओं की बस पर हमले के मास्टरमाइंड लश्कर कमांडर अबु इस्माइल को उसके पाकिस्तानी साथी सहित मारकर सबका बदला दे लिया है। lashkar terrorist abu ismail aide killed.

अमरनाथ हमले के मास्टरमाइंड अबु समेत 2 आतंकी ढेर

सुरक्षा बलों ने श्रद्धालुओं की बस पर हमले के मास्टरमाइंड लश्कर कमांडर अबु इस्माइल को उसके पाकिस्तानी साथी सहित मार गिराया। इस पर 10 लाख का इनाम था। आपको बता दें कि इसी साल 10 जुलाई को श्री अमरनाथ यात्रा के दौरान अनंतनाग में आतंकियों ने श्रद्धालुओं की बस पर हमला किया था, जिसमें 8 यात्रियों की मौत हो गई थी। वानी की तरह इस आतंकी के मारे जाने पर भी बवाल न बढ़े इसके लिए श्रीनगर में इंटरनेट की 4G सर्विस रोक दी गई है। सिक्युरिटी फोर्सेस लंबे समय से अमरनाथ यात्रियों के कातिल अबु इस्माइल की तलाश थी।

ऑपरेशन लोगों की प्रार्थनाओं का परिणाम

इस हमले पर कश्मीर के आईजीपी मुनीर खान ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि, हमें अनंतनाग में लश्कर के दो बड़े आतंकियों की मौजदूगी कि सूचना मिली थी। सेना कि राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ व जम्मू कश्मीर पुलिस के एसओजी ने पूरे इलाके को घेरा जहां दो आतंकियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरु कर दी। जवाबी कार्रवाई में सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों को मार गिराया। दोनों आतंकी A++ कैटेगरी के थे। कश्मीर के आईजीपी मुनीर खान ने इस ऑपरेशन को लोगों की प्रार्थनाओं का परिणाम बताया है।

अबु इस्माइल पर था 10 लाख का इनाम

इस्माइल लश्कर का आतंकी था, जिसके ऊपर 10 लाख रुपए का इनाम रखा गया था। 10 जुलाई को अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले का प्लान इस्माइल ने ही बनाया था। 24 साल का अबु इस्माइल पाकिस्तान का नागरिक था। आपको बता दें कि बीते 10 जुलाई को दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों पर हमला किया था जिसमें 8 यात्रियों की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.