राजनीति

पीएम मोदी और सुरेश प्रभु मिलकर ला रहे हैं मिशन रफ्तार !! जानिए क्या है ये शानदार योजना

इसका उद्देश्य ट्रेनों की रफ्तार 25 किलोमीटर प्रति घंटा बढ़ाने और डीजल से फैल रहे प्रदूषण को कम करना है। रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि इलैक्ट्रिक इंजन का इस्तेमाल करने से ईंधन पर होने वाले खर्च पर कटौती होगी क्योंकि बिजली सस्ती पड़ती है।

ये पहल ‘मिशन रफ्तार’ का हिस्सा है, जिसका ऐलान रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने इस साल रेल बजट में किया था। इस मिशन के तहत अगले पांच  साल में माल गाड़ियों की औसत रफ्तार को दोगुना करना और नॉन-सबअर्बन ट्रेनों की रफ्तार 25 किलोमीटर प्रतिघंटा करना है। फिलहाल नॉन-सबअर्बन ट्रेनों की औसत रफ्तार 46.3 किलोमीटर प्रति घंटा जबकि माल गाड़ियों की रफ्तार 24.2 किलोमीटर प्रति घंटा है।

पिछला पृष्ठ 1 2
Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close