चश्मदीद का खुलासा – हत्यारा टॉयलेट में कर रहा था ‘गलत हरकत’…तभी वहां पहुंच गया प्रद्मुम्न और…

गुरुग्राम – आज से पांच दिन पहले 8 सितंबर यानी शुक्रवार के दिन दिल्ली से सटे गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशल स्कूल में 7 साल के बच्चे की हत्या कर दी गई। इस मासूम का नाम प्रद्युम्न था। स्कूल के अंदर हुई इस घिनौनी वारदात ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया। प्रद्युम्न की हत्या का आरोपी गिरफ्तार है, लेकिन इस मामले में अब भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं जिनका जवाब संभव है कि आने वाले दिनों में मिल सके। Pradyumna murder case eyewitness.

 

हत्या के बाद खून से सने कपड़ों में दिखा आरोपी

प्रद्युम्न मर्डर केस में एक सुभाष गर्ग नाम का चश्मदीद सामने आया है। जिसके मुताबिक वह हत्या के ठीक बाद रेयान स्कूल में मौजूद था। सुभाष के मुताबिक, उसने प्रद्युम्न के खून से सने शव को और उस कंडक्टर को भी देखा था जिसकी शर्ट पर प्रद्युम्न का खून लगा था। आपको बता दें कि चश्मदीद सुभाष गर्ग का बच्चा रायन स्कूल में पढ़ता है। चश्मदीद ने प्रद्युम्न मर्डर केस में खुलासा बताया है कि वारदात के वक्त अशोक टॉयलेट में हस्तमैथुन कर रहा था। तभी प्रद्युम्न वहां पहुंच गया, उसने उसे उस हालत में देख लिया। अशोक ने उसे टॉयलेट में खींचा और उसके साथ गलत हरकत करने की कोशिश करने लगा। प्रद्युम्न के शोर मचाने व विरोध करने पर उसने घबराकर उसककी गर्दन को चाकू से काट दिया।

क्या था पूरा मामला?

गुरुग्राम (पूराना गुड़गांव) के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितम्बर दिन शुक्रवार को दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले 7 साल के प्रद्युम्न कि हत्या कर दी गई। इस मामले में आरोपी बस कंडक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया। बस कंडक्टर ने कुकर्म करने में नाकाम रहने के कारण उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। इस घटना ने लोगों के सामने यह सवाल खड़ा कर दिया कि उनके बच्चे अब कहां सुरक्षित हैं। जिस स्कुल के भरोसे वो अपने बच्चों को छोड़ रहे हैं वो कितने सुरक्षित बचे हैं। फिलहाल इस मामले ने पुलिस और प्रशासन के होश उड़ा दिए हैं। इस तरह से एक मासूम कि हत्या ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है।

 

अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में शुक्रवार को कक्षा दो में पढ़ने वाले 7 साल के प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश की। कुकर्म में नाकाम होने के बाद उसकी गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में बस कंडक्टर अशोक समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इस मामले में स्कूल की प्रिंसिपल को भी सस्पेंड कर दिया गया है। आरोपी अशोक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।