एक ग्लास शराब के लिए भाई-बहन के साथ हो गया बड़ा कांड, जानकर खड़े हो जाएंगे आपके रौंगटे

एक प्याले शराब की कीमत क्या होगी। दस रुपए, पचास रुपए, सौ रुपए या दो नन्ही जान। जी हां ये सब हम इस लिए कह रहे हैं क्योंकि यूपी के एटा जिले में दिल को झकझोर देने वाला मामला सामने आया है। जिसके बाद गांव वालों को भी समझ में नहीं आ रहा की आखिर एक प्याला शराब क्या किसी के लिए इतना जरूरी हो जाता है कि वो हैवानियत पर उतर जाए। जबकि बच्चों का कूसूर इतना हो कि वो शराब पीने के लिए पानी देने से मना कर दें।

शराबी ने की दो बच्चों की हत्या

एटा में ऐसा ही दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है जहां एक शराबी ने घर के बाहर खेलते बच्चों को इस लिए गोली मार दी क्योंकि उन्होने शराब पीने के लिए पानी देने से मना कर दिया था, जबरदस्ती करने पर शराब का एक गिलास गिर गया था। जिसके बाद शराबी ने मासूम भाई-बहन की गोली मारकर हत्या कर दी, जबकि एक अन्य बच्ची घायल है। उसे गंभीर हालत में आगरा रेफर किया गया है। घटना के बाद ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़कर जमकर धुनाई की और पुलिस को सौंप दिया।

शराब पीने के लिए पानी न देने से था नाराज

मामला एटा के गांव देवतरा का है, जहां सोमवार शाम लगभग 4 बजे देवतरिया गांव का रहने वाला सिक्योरिटी गार्ड छोटे सिंह अलीगंज से शराब पीकर मोटरसाइकिल से आया था। यहां रहने वाले इदरीस के दरवाजे के बाहर बैठकर उसने फिर शराब पीना शुरू कर दिया। उसके पास लाइसेंसी दुनाली बंदूक भी थी। पास में ही इदरीस का बेटा शान मोहम्मद, बेटी गुलवशा और पड़ोसी महबूब की बेटी सोनी खेल रही थीं। खेलते समय बच्चों से पानी मांगा तो उन्होने मना कर दिया।

फिर खेलने लगे, इसके बाद अचानक एक बच्चे का धक्का लगने से शराब का गिलास लुढ़क गया। इस पर तैश में आए छोटे सिंह ने बच्चों के ऊपर बंदूक से गोली चला दी। गोली लगने से शान मोहम्मद और गुलवशा की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सोनी गंभीर रूप से घायल हो गई। परिजनों और आसपास के लोगों ने नशे में झूम रहे छोटे सिंह को पकड़ लिया और पिटाई के बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस को बताया कि छोटे सिंह गाजियाबाद में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है, बीते दिनों छुट्टी पर आया था।