दिलचस्प

दुनिया के ५ ऐसे बेहुदे इस्लामिक फ़तवे, जिन्हे पढ़कर आप अपनी हंसी ना रोक पाएंगे

पढ़े ये अजीब और बेहूदा इस्लामिक फतवे (Funny Islamic Fatwas)

इन्हें पढ़िए अवश्य क्यूंकि इन्हें पढ़कर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे

  1. भूखे हैं तो खा सकते हैं अपनी बीवी को Saudi-grand-mufti-sheik-abdul-aziz

कुछ दिन पहले ही सऊदी अरब के शाही इमाम मुफ्ती शेख अब्दुल अजीज बिन अब्दुल्लाह ने एक फ़तवा जारी करके कहा था कि यदि पुरूष बहुत भूखा है तो वह अपनी पत्नी के शरीर के अंगों को काटकर खा सकता है।
शाही इमाम के अनुसार यदि पत्नी का शरीर पति की भूख मिटाता है तो यह महिला की अपने पति के प्रति वफादारी और समर्पण है। उल्लेखनीय है कि सऊदी अरब में इस्लामिक कानून है और वहां शरीयत के अनुसार ही अपराधों की सजा सुनाई जाती है।

2. सहकर्मियों को अपना दूध पिलायें कामकाजी महिलाएं

18

मिस्र में शीर्ष मौलवियों के एक बडे समूह ने एक फतवा जारी किया है। फतवे में कहा गया है कि मिस्र की कामकाजी महिलाएं अपने साथ काम करने वाले मर्दों को अपनी छाती का दूध पिलायें। फतवे के अनुसार यह भी ताकीद की गयी है कि यह स्‍तनपान कम से कम दिन में पांच बार कराया जाना चाहिए। जाहिर है कि फतवे के अनुसार यह काम दफतर में ही किया जाना है और आफिस में काम करने वाली हर एक औरत के लिए लाजिमी है।
इस बारे में तर्क देते हुए मौलवियों के इस शीर्ष संगठन का कहना है कि औरत और मर्द के एकसाथ रहने से उनके बीच जिस्‍मानी ताल्‍लुकात पैदा हो जाने की आशंका बेहद होती है, मगर यदि आफिस में काम करने वाली हर महिला अपने साथी काम करने वाले मर्द को अपनी छाती का दूध पिलायेगी तो उनके बीच मां-बेटे का रिश्‍ता कायम हो जाएगा ओर इसके चलते उनके बीच जिस्‍मानी रिश्‍तों की गुंजाइयश नहीं रह जाएगी। और चूंकि यह स्‍तनपान दिन में पांच बार कराया जाएगा, इसलिए यह रिश्‍ता और भी मजबूत हो जाएगा। साथ ही फिर उनके बीच शादी जैसे रिश्‍तों की गुंजाइश भी नहीं बचेगी।

अगर हस्‍तमैथुन किया तो मरने के बाद हाथ प्रेगनेंट हो जाएगा

00hastmaithun

इस्‍तांबुल के धर्मप्रचारक मुकाहिद सिहाद हान का कहना है कि जो लोग हस्‍तमैथुन करते हैं, मरने के बाद उनका हाथ गर्भवती हो जाता है और अपने अधिकारों की मांग करता है। इस मूर्खतापूर्ण बयान के बाद ट्वीटर पर लोग खूब मजे ले रहे हैं।
एक शख्स ने ट्वीट कर पूछा है कि क्‍या मृत्‍यु के बाद कोई हैंड-गायनोकोलॉजिस्‍ट होता है? क्‍या वहां पर गर्भपात की इजाजत होती है? वहीं, एक दूसरे यूजर ने पूछा कि क्‍या आप मानते हैं कि प्रैगनेंट होना अल्‍लाह की दी गई सजा है?

मौलाना ने जारी किया अजीब फतवा, टमाटर है ईसाई, हिन्दू है सीताफल

800x480_IMAGE42862402

इजिप्टियन इस्लामिक एसोसिएशन की ओर से जारी किए गए फतवे में कहा गया है कि सलाफी शेख ने टमाटर को ईसाई बताया है। जिसमें यह कहा गया है कि अजीबो-गरीब तरह के फतवे जारी करने के बाद यह संगठन केले के साथ ककड़ी को लेकर भी एक फतवा जारी कर दिया गया है।

इसमें कहा गया है कि टमाटर को दो हिस्सों में काटने पर वह उसमें क्राॅस की तरह आकृति नज़र आती है। यह मुस्लिमों के लिए ठीक नहीं है। सीताफल को केवल हिंदू खाऐं और टमाटर को मुस्लिम न खाऐं।

औरतों को केला और खीरा को नहीं छूना चाहिए

557600_380784721986699_46732967_n

इंग्लैंड के मौलाना ने फतवा जारी किया है कि औरतों को केला और खीरा को नहीं छूना चाहिए। क्योंकि इन फलों के छूने से उनमें गंदे विचार पैदा हो सकते हैं क्योंकि ये दोनों फल पुरुष के लिंग से मेल खाते हैं।

यह भी कहा कि अगर कोई महिला, पुरूष के लिंग के आकार के फल या सब्जी को खाना चाहती है तो उसके पास मौज़ूद पिता, पति या भाई को उसकी मदद करनी चाहिए और खीरे या केले को छोटे-छोटे टुकड़ों में काट कर महिला को खिलाना चाहिए। महिलाओं के लिए वर्जित होने वाली सब्जियों में गाजर और तोरई को भी शामिल करने को कहा है।

Show More

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

Back to top button
Close