आखिरकार बन्द होगा ये खूनीखेल, जो मासूमों को बना रहा था अपना शिकार

देश भर में बच्चों की जान के लिए खतरा बन चुकी ऑनलाइन गेम ‘ब्लू वेल चैलेंज कंप्यूटर और मोबाइल गेम पर केंद्र सरकार ने रोक लगा दी है। सरकार ने प्रमुख सर्च इंजन और सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स को इस गेम को डाउनलोड करने से संबंधित लिंक हटाने को कहा है। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद की पहल के बाद इलेक्ट्रॉनिक और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। ban blue whale game.

राज्य सरकारों ने इस बरगलाने वाले गेम पर बैन लगाने की थी मांग

इस गेम को खेलने वाले बच्चों में आत्महत्या की प्रवृत्ति पनपने की घटनाओं की शिकायतों के बाद केरल, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र सहित अन्य राज्य सरकारों की मांग पर केंद्र सरकार ने ‘ब्लू वेल चैलेंज’ पर रोक लगाई है। इससे पहले केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने भी सोमवार को सरकार से इस गेम को प्रतिबंधित करने की मांग की थी।

मिलते-जुलते नाम वाले ऑनलाइन गेम के लिंक भी हटेंगे

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद को इस गेम के बारे में शिकायतें मिलने के बाद यह पहल की गई है। एक अधिकारी ने बताया कि इस गेम पर प्रतिबंध की आशंका को देखते हुए सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर पहले ही कई नकली या प्रॉक्सी यूआरएल या आईपी अड्रेस बना लिये गए थे। इसके मद्देनजर ही सरकार ने अपने निर्देश में सर्च इंजन और सोशल मीडिया वेबसाइट से ब्लू वेल चेलैंज गेम से मिलते-जुलते नाम वाले या यूआरएल वाले गेम्स के लिंक भी हटाने को कहा है।