ब्रेकिंग न्यूज़

स्वतंत्रता दिवस समारोह में पीएम मोदी ने कहा गोली से नहीं गले लगाने से सुलझेगी कश्मीर की समस्या

नई दिल्ली: आज पुरे देश में जहाँ एक तरह स्वतंत्रता दिवस का समारोह मनाया जा रहा है, वही आज भी कश्मीर घाटी के हालात कुछ ठीक नहीं हैं। घाटी में कुछ लोगों के नापाक इरादों की वजह से पूरी घाटी की शांति भंग रहती है। घाटी में आतंक फैलाने के लिए जहाँ पाकिस्तान कोई मौका नहीं गंवाता है, वहीँ कुछ कश्मीरी अलगाववादी भी आग लगाने का कोई मौका नहीं छोड़ते हैं। PM Modi’s speech on Independence Day.

देश को कर रहे हैं अन्दर से खोखला:

यह बात बहुत पहले ही साबित हो चुकी है कि कश्मीरियों को धर्म के नाम पर बरगलाने का काम पाकिस्तानी आका करते हैं। धर्म के नाम पर बहला-फुसलाकर उन्हें आतंक के दलदल में झोकने में पाकिस्तान हमेशा से ही माहिर रहा है। पाकिस्तान अलगावादियों को हर तरह की सुविधा देता है, ताकि वह देश के अन्दर रहकर देश को खोखला करते रहें। लोगों को यह समझ नहीं आ रहा है कि इससे फायदा केवल पाकिस्तान का ही होने वाला है।

कुछ दिनों पहले भारत और पाकिस्तान के कुछ गायकों ने मिलकर दोनों देशों का राष्टगान गाया था। उन्हें इस बात की उम्मीद थी कि आम जनता दुश्मनी भूलकर प्रेम का सन्देश देंगे, लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। भारत और पाकिस्तान सीमा के हालात सुधरते हुए नहीं दिख रहे हैं। कश्मीर में अलगाववादी संगठन पत्थाबाजों की मदद से पाकिस्तानी आतंकियों का बचाव बखूबी करती है।

कश्मीर के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों को समझना होगा:

प्रधानमंत्री मोदी ने आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कहा कि कश्मीर की समस्या को गोली और गाली से नहीं बल्कि कश्मीरियों को गले लगाने से सुलझेगी। पीएम मोदी ने भी अमन-चैन की बात की। लाल किले की से देश के 71 वें स्वतंत्रता दिवस पर देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों के लोगों को भी यह समझना होगा कि कश्मीर की समस्या गोली और गाली ने नहीं सुलझेगी बल्कि कश्मीरियों को गले लगाने से ही परिवर्तन आएगा।

पीएम मोदी ने इस मौके पर अलगाववादियों को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि कश्मीर में ये मुट्ठीभर असामाजिक तत्व हर रोज अपने पैंतरे बदलते रहते हैं। पीएम मोदी ने विपक्षी पार्टियों पर भी निशाना साधा और कहा कि कश्मीर को लेकर बयानबाजी और आरोप-प्रत्यारोप लगते रहते हैं। लेकिन इस बार सरकार ने यह संकल्प लिया है कि कश्मीरियों की यह समस्या गले लगाकर ही सुलझाई जा सकती है।

वीडियो-

Related Articles

Close