नई दिल्ली – डोकलाम को लेकर भारत और चीन के बीच केन्द्र कि मोदी सरकार ने चीन को करारा झटका दे दिया है। भारत सरकार द्वारा चीन के 93 प्रोडक्ट्स पर एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगा दी गई है, जिससे चीन बौखला गया है। चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स में छपे एक लेख में मोदी सरकार के इस कदम को युद्ध कि दिशा में एक और कदम बताया गया है। Trump can start trade war against china.

अमेरिका-चीन में भी बढ़ा तनाव 

डोकलाम को लेकर भारत और चीन के बीच जो तनाव की स्थिति है उसका असर अब धीरे-धीरे अन्य देशों पर भी पड़ने लगा है। मोदी सरकार के झटके के बाद चीन को दूसरा झटका अमेरिका से लगा है। दरअसल, अमेरिका जल्द ही प्रौद्योगिकी चोरी मामले की जांच करवाने जा रहा है। डोनाल्ड ट्रंप के सत्ता में आते ही अमेरिका कई चीनी चीजों की जांच कर रहा है।

अमेरिका जो जांच कर रहा है उसमें चीन कि ओर से टेक्नॉलजी की चोरी सहित कई अन्य चीजें भी शामिल हैं। अमेरिका के इस कदम को लेकर एक चीनी सरकारी समाचार पत्र ने अमेरिका को चेतावनी देते हुए लिखा है कि अगर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन के खिलाफ अमेरिकी टेक्नॉलजी की चोरी के आरोपों की जांच आगे बढ़ाते हैं तो इससे चीन और अमेरिका के बीच ट्रेड वॉर शुरू हो सकता है।

 

मोदी सरकार ने चीनी सामान पर लगाया अतिरिक्त टेक्स

अमेरिका ने तो चीन को झटका दिया ही है, मोदी सरकार ने भी पिछले बुधवार को 93 चीनी प्रोडक्ट्स पर एंटी डंपिंग ड्यूटी लगा दिया है। जिसपर चीन की ओर से भारत से ट्रेड वार शुरू होने कि बात कही है। चीनी मीडिया में छपे लेख में कहा गया है कि भारत अगर चीन के साथ ट्रेड वॉर करता है तो इससे चीन की अर्थव्यवस्था के साथ-साथ भारत को भी नुकसान होगा।

लेख में मोदी सरकार के इस फैसले को भारत के लिए गंभीर परिणाम वाला बताया गया है। आपको बता दें कि एंटी डंपिंग ड्यूटी एक तरह का टैक्स है, जिसे कोई देश विदेशी कंपनियों पर लगाता है। यह टेक्स उस देश द्वारा उन विदेशी कंपनियों पर लगाया जाता है, जो अपने प्रोडक्ट को किसी अन्य देश में प्रोडक्ट की औसत कीमत से भी कम में बेचती हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.