समाचार

ड्रोन उड़ाकर प्रधानमंत्री मोदी ने सबको चौंका दिया, पीएम ने अपना सपना भी बताया और संकल्प भी लिया

पीएम मोदी तकनीक से विकास करने के हिमायती रहे हैं। उन्होंने कई बार कहा है कि तकनीक समस्या नहीं समाधान है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने राष्ट्रीय राजधानी में दो दिवसीय ‘भारत ड्रोन महोत्सव 2022’ की शुरुआत की। उन्होंने इस महोत्सव के पहले दिन ड्रोन उड़ाकर सबको हैरान कर दिया।

कार्यक्रम के दौरान पीएम ने उन किसानों से भी बात की जो किसानी में ड्रोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि, ड्रोन टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देना सुशासन और जीवन में सुगमता के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने का एक और माध्यम है। ड्रोन के रूप में हमारे पास एक स्मार्ट टूल है, जो लोगों के जीवन का हिस्सा बनने जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि 2014 से पहले शासन में टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के प्रति ‘‘उदासीनता’’ का माहौल था और इसके चलते गरीब और मध्यम वर्ग के लोग सबसे ज्यादा प्रभावित हुए। प्रधानमंत्री ने जोर देते हुए कहा कि वर्तमान सरकार ने ड्रोन सहित अन्य टेक्नोलॉजी की मदद से सेवाओं को अंतिम छोर तक पहुंचाना सुनिश्चित किया है।

पीएम ने बताया अपना सपना

उन्होंने कहा ,‘ऐसे वक्त में जब हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, मेरा सपना है कि भारत में प्रत्येक व्यक्ति के हाथ में एक स्मार्ट फोन हो, हर खेत में एक ड्रोन हो और प्रत्येक घर में समृद्धि हो।’ पीएम मोदी ने कहा कि भारत में ड्रोन टेक्नोलॉजी को लेकर जिस तरह का उत्साह देखा जा रहा है, वह अद्भुत है और यह इस उभरते क्षेत्र में रोजगार सृजन होने की संभावनाओं का संकेत देता है।

तकनीकी समस्या नहीं समाधान है

पीएम मोदी ने कहा कि आठ साल पहले ‘हमने सुशासन के नए मंत्रों को लागू करना शुरू किया और न्यूनतम सरकार तथा अधिकतम शासन के सिद्धांत पर चलते हुए जीवन और कारोबार की सुगमता को प्राथमिकता दी गयी। पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों के कार्यकाल में टेक्नोलॉजी को समस्या का हिस्सा समझा जाता था और इन पर ‘गरीब विरोधी’ होने का ठप्पा लगाने के प्रयास किए जाते थे।

इसके कारण 2014 से पहले के शासन में टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल को लेकर उदासीनता का माहौल था और इसका सबसे ज्यादा असर गरीबों, वंचितों और मध्यम वर्ग पर पड़ा। उन्होंने कहा, ‘ड्रोन टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देना सुशासन एवं जीवन को सुगम बनाने के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने का एक और माध्यम है।’

नई टेक्नोलॉजी का लाभ जनता ले

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक वक्त था जब लोग राशन पाने के लिए घंटों लंबी कतारों में खड़े रहते थे,लेकिन पिछले सात से आठ वर्षों में इन बाधाओं को टेक्नोलॉजी की सहायता से दूर किया गया है। उन्होंने दावा किया कि पहले ऐसा समझा जाता था कि टेक्नोलॉजी संबंधी अविष्कार गणमान्य लोगों के लिए है, लेकिन,‘ आज हम सुनिश्चित कर रहे हैं कि किसी भी नयी टेक्नोलॉजी की लाभार्थी सबसे पहले जनता बने। ड्रोन टेक्नोलॉजी इसका एक उदाहरण है।’

Back to top button