बॉलीवुड

बॉलीवुड की इस देवरानी-जेठानी जोड़ी में है छत्तीस का आंकड़ा, कपूर खानदान से रखती हैं तालुक

कोई साधारण परिवार हो या किसी सेलिब्रिटी का परिवार, हर जगह आपसी रिश्तों के बीच प्यार दिखाई देता है तो तनाव भी नजर आते हैं। बॉलिवुड की सबसे फेमस फैमिली कपूर फैमिली में भी प्यार और तकरार का ये संयोग दिखाई देता है।हम बात कर रहे हैं ‘कपूर खानदान’ की बहुओं और देवरानी-जेठानी नीतू कपूर और बबीता कपूर के बीच के तकरार की।

बबीता और नीतू कपूर एक दूसरे को बेहद नापसंद करती हैं। हांलाकि करीना और सैफ की शादी के वक्त दोनों के बीच के रिश्ते में थोड़ी नजदीकी दिखी थी लेकिन पिछले लंबे वक्त से चल रही खींचतान की वजह से इस रिश्ते की गांठ अभी भी दिख जाती है।

बबीता शिवदासानी कपूर खानदान की बड़ी बहू हैं और उनकी शादी रणधीर कपूर से साल 1971 में हुई थी। जबकि नीतू कपूर साल 1980 में कपूर खानदान की बहू बनीं थीं। शुरू से ही दोनों के बीच का रिश्ता खींचतान भरा रहा। माना जाता है कि इस अनबन की वजह परिवारिक रिश्ते ही रहे। कई मौकों पर सार्वजनिक तौर पर भी ये खटास देखने को मिल चुकी है।

karishma kapoor and sanjay kapur

ये खटास इतनी ज्यादा थी कि बबीता की बेटी करिश्मा कपूर की शादी के वक्त नीतू कपूर शामिल नहीं हुई थीं। वहीं जब 2007 में नीतू-ऋषि की इकलौती बेटी रिद्धिमा की शादी हुई तब ना तो बबीता उस शादी में पहुंचीं और ना ही उनकी बेटी करिश्मा और करीना। रिद्धिमा के चाचा रणधीर कपूर अकेले ही परिवार की तरफ से शादी में शामिल होने आए थे।

riddhima kapoor

दोनों के बीच की दूरियों को अंदाजा इस बात से लगत सकता है जब 2010 में नीतू की मां राजी सिंह का निधन हुआ तो भी बबीता कपूर वहां दुख जताने नहीं पहुंचीं थीं। इन दोनों के बच्चों पर भी इस कोल्ड वॉर का असर दिखा और दोनों परिवारों के बच्चों के बीच कुछ खास गर्मजोशी के रिश्ते नहीं हैं।

हालांकि इस दुश्मनी को खत्म करने की पहल बबीता की तरफ से की गई थी। वो करीना और सैफ की शादी के वक्त इनविटेशन लेकर नीतू के घर पहुंचीं थी। जिसके बाद नीतू सिंह भी इस शादी में हिस्सा लेने पहुंची थीं।

साथ ही दोनों के बीच इस शादी में ऐसी कैमिस्ट्री दिखाई दी कि लगा जैसे इनके बीच कभी कोई विवाद रहा ही नहीं था। इसके अलावा पिछले साल अरमान जैन की शादी में भी दोनों को साथ देखा गया। इस शादी में देवरानी-जेठानी जमकर डांस करती देखी गई थीं।

Back to top button