समाचार

9वीं की छात्रा को अगवा कर पहुंचाया गया चकलाघर में, छत से कूद कर भागी तो दलालों ने फिर पकड़ लिया

रेडलाइट एरिया में अगवा कर पहुंचाई गई नवीं की छात्रा छत से कूदकर इस चंगुल से बाहर भागी लेकिन दलालों को इसकी भनक लग गई और उन्होंने बाइक से उसका पीछा कर पकड़ लिया। फिर क्या हुआ आपको आगे बताते हैं।

घटना बिहार के बेगसूराय की है। यहां के बखरी का नदैल घाट रेडलाइट एरिया की वजह से बदनाम रहा है। रोहतास की एक नाबालिग लड़की को बेचने के लिए यहां लाया गया था। लड़की भागकर किसी तरह ग्रामीणों की मदद से पुलिस तक पहुंच गई। इस मामले की पड़ताल के लिए रविवार को डीएसपी चंदन कुमार ने मानव तस्करी के लिए बदनाम रेडलाइट एरिया में छापेमारी की। बताया जा रहा है कि छापेमारी में एक घर से आपत्तिजनक चीजें मिली हैं।

दो महीने पहले हुई थी अगवा

रेडलाइट एरिया से भागकर पुलिस के हाथ लगी लड़की के मुताबिक वह कक्षा 9 की छात्रा है। जिसे करीब दो माह पूर्व स्कूल से जाते समय अकेला पाकर अगवा कर लिया गया। मानव देह के सौदागरों ने उसे किशनगंज में रखा गया था। पांच दिन पूर्व वहां के चकलाघर की दलाल ने उसे बखरी भिजवा दिया था और अब उसे सीतामढ़ी भिजवाने की तैयारी चल रही थी।

छत से कूदी छात्रा

शनिवार की सुबह वह घर के सभी लोगों को सोता छोड़ कर छत से कूद कर भागने में सफल रही। रास्ते में चकला घर के गुर्गों ने मोटरसाइकिल से उसका पीछा किया और रामपुर में पकड़ लिया था। किंतु स्थानीय लोगों के सहयोग से उसे बदमाश के चंगुल से छुड़ाकर पुलिस को सूचना देकर थाना पर लाया गया।

मामले में एसडीपीओ ने बताया कि लड़की को जहां रखा गया था, उसने उस घर और आदमी की शिनाख्त कर ली है। घर का मालिक संजय खलीफा है। संजय छापामारी के दौरान अपने घर से भागने में सफल रहा। लड़की के मां-बाप को सूचना देकर बुलाया गया है। मामले में प्राथमिकी दर्ज करते हुए मानव तस्करों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। आपको बता दें कि शुरुआत में लड़की ने घर जाने से यह कहकर इंकार कर दिया था कि उसके घर वाले स्‍वीकार नहीं करेंगे।

Back to top button