समाचार

आ गई वो शुभ घड़ी, 1 जून से शुरू होगा राम मंदिर के गर्भगृह का निर्माण, CM योगी करेंगे शिला पूजन

सैकड़ों साल से भारतीय जनमानस जिस घड़ी का इंतजार कर रहा था वो शुभ घड़ी 1 जून को आ गई है। इसी दिन भगवान राम की जन्मभूमि के गर्भगृह का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। इस शुभ घड़ी के मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहेंगे। सीएम रामलला के गर्भगृह के मंदिर निर्माण के प्रथम शिला का पूजन करेंगे। इसके लिए वैदिक ब्राह्मण 1 जून को सुबह 5:00 बजे से राम जन्मभूमि परिसर में पूजन शुरू करेंगे जिसकी तैयारी तेजी के साथ की जा रही है।

शुभ मुहूर्त में शिला पूजन

भगवान राम लला के गर्भगृह का निर्माम कार्य तराशे गए पत्थरों से शुरू होगा। उसके पहले प्रथम पत्थर का पूजन अर्चन किया जाएगा। पूजन अर्चन ठीक मुहूर्त के शुभ संयोग पर किया जाएगा। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य कामेश्वर चौपाल के अनुसार एक जून को सुबह 9:00 बजे से 11:00 बजे तक अभिजीत मुहूर्त में मुख्यमंत्री खुद राम जन्मभूमि परिसर में मौजूद रहेंगे और वहीं पर रामलला के मंदिर के गर्भ ग्रह की बुनियाद रखेंगे।

मंदिर निर्माण के लिए प्लिंथ निर्माण कार्य 1 सितंबर तक पूरा होने की संभावना है लेकिन रामलला के मंदिर निर्माण के लिए बनाए जा रहे गर्भ ग्रह स्थल पर लगभग 5 लेयर ग्रेनाइट पत्थर की बिछाई जा चुकी है और यह संभावना है कि 1 जून तक 7 लेयर प्लिंथ की बिछा दी जाएगी। प्लिंथ बुनियाद से 21 मीटर ऊंची रहेगी इन्हीं पत्थरों के ऊपर रामलला के गर्भ गृह का निर्माण शुरू हो जाएगा। यह काम भी 1 जून को शुरू कर दिया जाएगा।

रामलला के गर्भ गृह के आसपास प्लिंथ यानी कि चबूतरे का निर्माण पूरा हो जाएगा शेष 2.77 एकड़ पर प्लिंथ का काम चलता रहेगा लेकिन जहां पर गर्भ गृह है उस जगह निर्माण शुरू हो जाएगा। मिर्जापुर के बलुआ पत्थर और उसके ऊपर ग्रेनाइट पत्थरों की कोटिंग करते हुए बुनियाद से 21 मीटर ऊंचा प्लिंथ बनाया जा रहा है।

इस कार्य में लगभग 17,000 पत्थर लगाए जाने हैं जिसमें अब तक 6,500 पत्थर लगाए जा चुके हैं। इस चबूतरे का निर्माण अगस्त माह तक होने की संभावना है लेकिन इस दरमियान तराशे गए पत्थर से मंदिर निर्माण का कार्य भी प्रारंभ कर दिया जाएगा और प्रथम चरण में गर्भ ग्रह स्थल के आसपास 21 फुट ऊंचा प्लिंथ का निर्माण शुर कर दिया जाएगा।

गर्भगृह निर्माण की पूजा में शामिल होंगे सीएम

गर्भ गृह निर्माण कार्य के आरम्भ के लिए अभिजीत मुहूर्त का समय रखा गया है। राम मंदिर के चबूतरे को तैयार किए जाने के साथ तराशे गए पत्थरों से मंदिर निर्माण कार्य प्रारंभ होगा। सूत्रों की मानें तो सूबे के मुखिया मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी रामलला के गर्भ गृह के निर्माण के पूर्व होने वाली पूजा में भाग लेंगे। 1 जून को अभिजीत मुहूर्त के शुभ समय पर रामलला के मंदिर निर्माण के लिए गर्भ गृह का निर्माण तरासे गए पत्थरों से शुरू होगा।

अंत्यत शुभ मुहूर्त बताया जा रहा है

रामजन्म भूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास ने बताया कि गर्भ गृह का काम जिस दिन शुरू होगा और उस दिन जेठ का शुक्ल पक्ष गुरुवार का दिन है और द्वितीया तिथि है। 1 तारीख को बहुत ही उत्तम मुहूर्त है। एक तारीख से ऊपर का भाग बनना शुरू हो जाएगा। 1 जून सभी विघ्न बाधाओं से दूर है। शुभ नक्षत्र शुभ तिथि 1 तारीख को सुबह से लेकर शाम तक किसी भी समय पूजा होगी। वह दिन शुभ है। 11:45 का जो समय है वह अभिजीत नक्षत्र है. उसमें जो भी काम होता है वह शुभ होता है। 1 तारीख को जितने भी काम होंगे वे शुभ नक्षत्र में होंगे।

Back to top button