समाचार

ज्ञानवापी मस्जिद में मौजूद शिवलिंग की तस्वीर सामने आई! हिंदू पक्ष का दावा यही हैं स्वयंभू बाबा

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे का काम पूरा हो गया है। तीन दिन चले सर्वे की तीसरे दिन दावा किया गया है कि सर्वे टीम स्वयंभू विश्वनाथ बाबा का शिवलिंग मिल गया है। सर्वे टीम के एक सदस्य ने कहा- नंदी जिनका सदियों से इंतजार कर रहे थे वो मिल गए हैं। लोगों ने उनसे पूछा की बाबा मिल गए…तो उन्होंने कहा हां।

शिवलिंग मिलने का दावा

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में तीन दिन तक चले सर्वे के तीसरे दिन सोमवार को सर्वे टीम ने नंदी की मूर्ति के पास के कुएं की पड़ताल की। हिंदू पक्ष के वकीलों ने दावा किया कि यहां शिवलिंग मिला है, जिसके बाद कोर्ट ने अपने आदेश में शिवलिंग के आसपास जाने पर रोक लगा दी। यहां वजू पर भी पाबंदी लगा दी गई है। साथ ही ज्ञानवापी में अब सिर्फ 20 लोगों के नमाज की बात कही गई है।

शिवलिंग की तस्वीरें सामने आईं

सोशल मीडिया और मीडिया में शिवलिंग की तस्वीरें सामने आई हैं। हिंदू पक्ष इसे ही शिवलिंग होने का दावा कर रहा है। दावा किया गया है कि ज्ञानवापी मस्जिद में कुएं के अंदर शिवलिंग है, जिसके बाद उसके आसपास के इलाके को वाराणसी कोर्ट के आदेश के बाद सील कर दिया गया है।

सर्वे के लिए आई टीम ने प्राचीन कुएं की वीडियोग्राफी के लिए अंदर वाटर प्रूफ कैमरा डाला था। तीन दिनों के सर्वे में ज्ञानवापी मस्जिद में तहखाने से लेकर गुंबद और पश्चिमी दीवारों की वीडियोग्राफी हुई। अब यह सबूत कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।

वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग!

हिंदू पक्ष के वकील मदन मोहन यादव ने दावा किया कि ज्ञानवापी के वजुखाने में 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग मिला है। उनका कहना है कि यह शिवलिंग नंदीजी के सामने है और पूरा पानी निकालकर देखा गया, शिवलिंग 12 फीट 8 इंच का है, जो काफी अंदर गहराई तक है, शिवलिंग जब मिला तो लोग झूम उठे और हर-हर महादेव के नारे लगे।

सर्वे में कई सबूत मिलने का दावा

ज्ञानवापी मस्जिद का सच कानूनी रिकॉर्ड में दर्ज हो गया। सबूत तस्वीरों  में कैद हो गए। तहखाने से लेकर गुंबद तक का वीडियो तैयार हो गया। तीन राउंड में सर्वे का काम हो गया। अब सच का इंतजार है। सोमवार को सर्वे का फाइनल राउंड था।

पहले दिन का सर्वे

ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर पहला सर्वे का 14 मई को हुआ था। पहले दिन सुबह 8 बजे से 12 बजे तक सर्वे हुआ। राउंड-1 में सभी 4 तहखानों के ताले खुलवा कर का सर्वे किया गया।

दूसरे दिन का सर्वे

15 मई को दूसरे राउंड का सर्वे हुआ। दूसरे दिन भी चार घंटे सर्वे का काम चला, लेकिन कागजी कार्रवाई के कारण सर्वे टीम डेढ़ घंटे देर से बाहर निकली। राउंड -2 में गुंबदों, नमाज स्थल, वजू स्थल के साथ-साथ पश्चिमी दीवारों की वीडियोग्राफी हुई। मुस्लिम पक्ष ने चौथा ताला खोला।

तीसरे दिन का सर्वे

सोमवार को तीसरे दिन करीब 2 घंटे का काम हुआ। सर्वे टीम नंदी के पास के कुएं से लेकर बाकी बचे इलाकों का मुआयना किया। फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी हुई।

हिंदू पक्ष दावे मजबूत होने की बात कर है तो मुस्लिम पक्ष कुछ न मिलने का दावा कर रहा है। सर्वे में शामिल वकील ने नाम न छापने की शर्त पर बताया था कि तीन कमरों में सर्प, कलश, घंटियां, स्वास्तिक, संस्कृत के श्लोक और स्वान की मूर्तियां मिली हैं, जो उनके लिए सबसे अहम सबूत हैं. इसके अलावा हिंदू मंदिरों के खंभे मिले हैं। हालांकि, मुस्लिम पक्ष लगातार शिवलिंग मिलने के दावे को खारिज कर रहा है. इन तमाम दावों के बीच ये मामला सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच गया है।

Back to top button