समाचार

ज्ञानवापी मस्जिद में 12 फीट व्यास का शिवलिंग, हिंदू पक्ष का दावा,सुरक्षा के लिए कोर्ट में अर्जी

ज्ञानवापी मस्जिद की वीडियोग्राफी और सर्वे सोमवार को पूरा हो गया। सर्वे के बाद बाहर निकले हिंदू पक्ष ने बहुत बड़ा दावा किया है कि मस्जिद के अंदर मौजदू कुएं में शिवलिंग मिला है। ज्ञानवापी मस्जिद तीन दिन चला सर्वे सोमवार को खत्म हो गया। इस बीच हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने दावा किया है कि कुएं के अंदर सर्वे के दौरान शिवलिंग मिला है। हिंदू पक्ष के एक वकील ने तो यह भी दावा किया कि शिवलिंग की ऊंचाई 12 फीट 8 इंच की है। ये भी खबर आई है कि शिवलिंग मिलने के बाद सर्वे टीम ने हर हर महादेव का नारा भी लगाया है।  आपको बता दें कि ऐसा विश्वास किया जा रहा था कि ज्ञानवापी मस्जिद की तरफ मुंह कर बैठे नंदी की मूर्ति से बड़ा शिवलिंग होगा।

शिवलिंग की सुरक्षा के लिए अर्जी

हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन ने शिवलिंग की प्रोटेक्शन के लिए सिविल कोर्ट अर्जी दी है, जिसके बाद कोर्ट ने पूरे इलाके को सील करने और सीआरपीएफ लगाकर सुरक्षा कराने का निर्देश जारी कर दिया है। शिवलिंग की सुरक्षा को लेकर कोई स्थिति पैदा ना होने पाए इसलिए हिंदू पक्ष ने अर्जी दी है। शिवलिंग की सुरक्षा को हर हाल में करना बेहद जरूरी है। उधर मुस्लिम पक्ष ने कहा कि कोई शिवलिंग नहीं मिला है।

कुएं में कैमरा डालकर की वीडियोग्राफी

सूत्रों के मुताबिक, सर्वे टीम नंदी के सामने बने कुएं की तरफ बढ़ी। वाटर रेसिस्टेंट कैमरा कुएं में डालकर वीडियोग्राफी भी करवाई गई है। इससे पहले रविवार को हुए सर्वे में पश्चिमी दीवार, नमाज स्थल, वजू स्थल, के अलावा तहखाने में भी सर्वे किया गया था।

अब कोर्ट में रिपोर्ट पेश करेगी टीम

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर कोर्ट ने 12 मई को बड़ा फैसला सुनाया था। कोर्ट ने ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के लिए नियुक्त किए गए एडवोकेट कमिश्नर  अजय कुमार मिश्रा को हटाए जाने से इनकार कर दिया था। हालांकि, अदालत ने कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा के अलावा विशाल कुमार सिंह को भी कोर्ट कमिश्नर नियुक्त कर दिया था। इसके अलावा अजय सिंह को असिस्टेंट कमिश्नर बनाया गया था। कोर्ट ने 17 मई तक सर्वे की कार्रवाई पूरी करके रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा था।

इससे पहले रविवार को भी ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे हुआ था। दूसरे दिन सर्वे का काम 12 बजे पूरा होना था, लेकिन सर्वे निर्धारित समय से अधिक वक्त तक चला। दूसरे दिन ज्ञानवापी मस्जिद के गुंबदों और दीवारों का सर्वे हुआ था। इससे पहले सिविल जज सीनियर डिवीजन की कोर्ट के आदेश पर सर्वे के लिए वादी और प्रतिवादी पक्ष के साथ ही कोर्ट की ओर से नियुक्त प्रतिनिधियों का दल ज्ञानवापी मस्जिद पहुंचा था।

Back to top button