हाफीज सईद के नापाक मंसूबों पर सरकार ने फेर दिया पानी

 

भारत सरकार ने साफ़ शब्दों में यह घोषणा की है कि वें जमात-उद-दावा के सदस्यों को भारत आने के लिए वीजा नहीं देगा। जमात-उद-दावा का अध्यक्ष, मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद है। हाफिज जम्मू-कश्मीर में सैन्य बलों से आहत लोगों की चिकित्सा और मदद के लिए भारत आना चाहता है।

एक सरकारी अधिकारी का कहना था कि, “जमात-उद-दावा जैसे आतंकी संगठन की भारत में आने की अनुमति देने का कोई सवाल ही नहीं उठता है।”

यह प्रतिक्रिया अधिकारियों ने तब दी, जब उनसे कश्मीर में घायल समर्थकों की मदद करने के लिए जमात-उद-दावा की 30-सदस्यी पैरामेडिकल टीम जो भारत में आने के लिए वीजा चाहती है, के बारे में पूछा गया।

लाहौर की एक रिपोर्ट के अनुसार बताया गया कि, “आवेदकों ने वीजा की अनुमति के लिए एक याचिका दायर की है, ये लोग कश्मीर में सेना के साथ संघर्ष में घायल लोगों की मानवीय स्तर पर मदद करना चाहते हैं।”

रिपोर्ट के अनुसार इस 30 सदस्यी टीम में 15 डॉक्टर और नेत्र विशेषज्ञ भी शामिल हैं।

सूत्रों का मानना है कि, ये सब दिखावा है और इसके पीछे इनके नापाक मनसूबे छुपे हैं। ये कश्मीर में दाखिल होकर लोगों को भड़काना चाहते है और इसके परिणाम बहुत ही भयावह हो सकतें हैं। देह में शांति बनाए रखने के लिए यही बेहतर होगा कि ये हमारे देश से दूर ही रहें।

आगे पढिये कश्मीरी युवाओं के नाम खुला पत्र।

Leave a Reply

Your email address will not be published.