समाचार

बेटी के लिए DM के पैरों में गिर गई एक मां, जिला अधिकारी ने पकड़ कर उठाया, कार्रवाई का दिया आदेश

मां की ममता अपने बच्चों के लिए कुछ भी करने को तैयार रहती है। जब अपनी लापता बेटी को खोजने की उसे कोई आस नहीं मिली तो वो जिला अधिकारी की पैरों में गिर गई और रो रोकर डीएम साहब से बेटी को खोजने की गुहाल लगाने लगी, मां के आंसू देखकर डीएम साहब का दिल पसीज गया उन्होंने तुरंत महिला को हाथों से पकड़ कर उठाया और उसे कार्रवाई का आश्वासन दिया। क्या है पूरा मामला आपको आगे बताते हैं।

कानपुर के चकेरी का मामला

कानपुर के चकेरी में बेटी के अपहरण के 12 दिन बाद भी पुलिस कार्रवाई नहीं होने पर पीड़ित मां ने जिलाधिकारी नेहा शर्मा के पैरों में गिरकर न्याय की गुहार लगाई। इस पर जिलाधिकारी ने तुरंत महिला को पकड़कर उठा लिया और पूरे मामले की जानकारी ली। डीएम ने पीड़ित महिला को कार्रवाई का आश्वासन दिया। साथ ही संबंधित थाना पुलिस को कार्रवाई करने के लिए कहा।

चकेरी के देवीगंज भट्टा निवासी रामकुमारी कठेरिया ने बताया कि उनकी 19 वर्षीय बेटी अंजू घरों में चौका-बर्तन करती है। बीती 19 अप्रैल को वह काम पर गई लेकिन घर नहीं लौटी। बेटी की तलाश शुरू की तो पता कि पटेल नगर स्थित एक टेंट हाउस में काम करने वाला कन्हैया बाल्मीकि उनकी बेटी को बहलाकर अपने साथ ले गया है।

उन्होंने कन्हैया के खिलाफ बेटी के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। आरोप है कि पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज कर ली लेकिन कार्रवाई नहीं की। इस बीच रविवार को जिलाधिकारी नेहा शर्मा विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना के कार्यालय में कैबिनेट मंत्री जितिन प्रसाद के आने पर पहुंचीं तो राजकुमारी ने यहां उन्हें घटना की जानकारी दी।

बेटी को जल्द खोजने की मांग करते हुए जिलाधिकारी के पैरों में गिर गईं। वहीं, थाना प्रभारी मधुर मिश्रा ने बताया कि पीड़िता की बेटी की तलाश की जा रही है। थाना प्रभारी ने भी जल्द जल्द से राजकुमारी की बेटी को खोजने का दावा किया।

Back to top button