समाचार

लुका-छिपी खेल के दौरान फ्रीजर में छुपी 2 मासूमों की दर्दनाक मौत, एक लापरवाही से गयी जान

एक बेहद दर्दनाक और दुखद घटना सामने आई है। जिसमें लुका-छिपी के खेल के दौरान छिपने के लिए फ्रीजर में घुस गईं दो बच्चियों की दम घुटने से मौत हो गई। पैरेंट्स और अभिभावकों की लापरवाही की वजह से इन दो मासूमों जिन्होंने अभी दुनिया को देखना शुरू ही किया था, मौत के मुंह मे चली गईं। क्या है पूरा मामला आपको बताते हैं।

कैसे हुआ हादसा?

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक के मैसूर जिले में मासेज गांव है। यहां नागराजू और चिक्कदेवम्मा की बेटी भाग्या (12 साल) पड़ोस में ही रहने वाले राजनायक और गोरम्मा की बेटी काव्या (7 साल) के साथ लुका-छिपी खेल रही थी। इनके साथ कुछ और बच्चे थे। काफी देर तक ये लोग लुका-छिपी खेलते रहे। जब भाग्या और काव्या का छिपने का नंबर आया तो इन्होंने जगह की तलाश शुरू की। इस दौरान इन्हें छिपने के लिए आइसक्रीम बॉक्स यानी फ्रीजर नजर आया। दोनों बच्चियां उसमें जाकर छिप गईं। उन्होंने उसका ढक्कन भी लगा दिया। जिसके बाद दम घुटने से इन दोनों की मौत हो गई।

ऐसे पता चला

उन्हें ढूंढ रहे बच्चों को जब दोनों आधे घंटे तक भी नहीं मिले तो उन्होंने उनकी तलाश तेज कर दी। इस दौरान बच्चों को वह फ्रीजर दिखा। जब बच्चों ने उसका ढक्कन खोला तो दोनों बच्चियां अंदर मृत थीं। कोई हरकत न देखकर बच्चे चिलाने लगे। आवाज सुनकर उनके पैरेंट्स आए और अस्पताल ले गए, लेकिन डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। इस मामले में पीड़ित परिवार ने कोई शिकायत नहीं दी है।

लापरवाही से बचने के लिए ये सावधानी जरूरी

अगर आपके घर में छोटे बच्चे हैं तो आपको काफी अलर्ट रहने की जरूरत है। यह सतर्कता तब और बढ़ानी चाहिए जब पति-पत्नी दोनों ही कामकाजी हों।

  • कमरा अगर फर्स्ट फ्लोर या उससे ऊपर है तो बालकनी में कोई भी ऐसी चीज न रखें, जिस पर चढ़कर बच्चा नीचे झांके। इससे वह हादसे का शिकार हो सकता है।
  • बेहतर होगा कि बालकनी को जाल से कवर कर दें।
  • घर में बिजली के सॉकेट आदि को कवर करके रखें ताकि बच्चे उसमें अपनी उंगली न डाल सकें।
  • गैस और इलेक्ट्रिक उपकरण को भी बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
  • वैसे तो बच्चों को घर में अकेला छोड़कर नहीं जाना चाहिए, लेकिन आपके पास कोई विकल्प नहीं और उन्हें छोड़कर जाना मजबूरी है तो आसपास के लोगों को भी ध्यान रखने के लिए बोल सकते हैं। अगर ये विकल्प भी नहीं है तो घर में सीसीटीवी कैमरा लगवाकर मोबाइल के जरिए भी बच्चों पर निगरानी रख सकते हैं।
  • बच्चों को समय-समय पर बताते रहें कि कौन सी चीज उनके लिए खतरनाक हो सकती है। उन्हें खेलने के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

Back to top button