समाचार

‘जीवन के आखिरी साल लोगों के स्वास्थ्य के लिए समर्पित करता हूं’: रतन टाटा का बेहद भावुक भाषण

देश के सबसे के सबसे लोकप्रिय उद्योग पति रतन टाटा जिनका हर भारतीय सम्मान करता है, उन्होंने अपने जीवन के आखिरी वर्षों को स्वास्थ्य के नाम समर्पित कर दिया है। वो चाहते हैं जब तक वो जिएं लोगों की सेहत और स्वास्थ्य के लिए काम करें। असम में कैंसर अस्पतालों के उद्घाटन के मौके पर रतन टाटा ने बेहद भावुक भाषण दिया। अपनी स्पीच की शुरुआत अंग्रेजी से करते हुए उन्होंने कहा कि वे अपनी जिंदगी के आखिरी साल स्वास्थ्य को समर्पित कर रहे हैं। उनकी आवाज में एक थरथराहट थी और वे रुक-रुककर बोल पा रहे थे।

हिंदी में भी बोले रतन टाटा

अंग्रेजी में स्पीच देते हुए उन्होंने हिंदी में बात न कर पाने के लिए माफी भी मांगी। उन्होंने कहा कि मैं हिंदी नहीं बोल पाऊंगा, इसलिए अंग्रेजी में बोलूंगा। लेकिन मैं जो भी बोलूंगा, वह सीधे मेरे दिल की बात है। हालांकि इसके बाद उन्होंने हिंदी में भी बात करके सभी का दिल जीत लिया।

ratan tata

उनके साथ मंच पर पीएम मोदी, राज्य के CM हेमंत बिस्वा सरमा और पूर्व CM सर्वानंद सोनोवाल भी मौजूद थे। प्रधानमंत्री ने असम के लिए 7 नए कैंसर अस्पतालों की आधारशिला रखी और 6 कैंसर अस्पतालों का उद्घाटन किया।


असम को मिली अस्पतालों की सौगात

कैंसर अस्पतालों का उद्घाटन कार्यक्रम के दौरान PM मोदी ने कहा कि असम ही नहीं नॉर्थ ईस्ट में कैंसर एक बहुत बड़ी समस्या रही है। इससे सबसे अधिक हमारे गरीब और मिडिल क्लास परिवार प्रभावित होते हैं।

कैंसर के इलाज के लिए कुछ साल पहले तक यहां के पेशेंट्स को बड़े शहरों में जाना पड़ता था। इससे इन परिवारों पर भारी बोझ पड़ता था। इसे दूर करने के लिए बीते 5-6 सालों से जो कदम यहां उठाए गए हैं, उसके लिए मैं सर्वानंद सोनोवाल जी, हेमंता जी और टाटा ट्रस्ट को बहुत साधुवाद देता हूं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार का फोकस स्वास्थ्य सेवाओं के डिजिटाइजेशन का है। सरकार की कोशिश है कि इलाज के लिए लंबी-लंबी लाइनों से मुक्ति हो, इलाज के नाम पर होने वाले दिक्कतों से मुक्ति मिले। इसके लिए एक के बाद एक योजनाएं लागू की गई हैं।

मैं चाहता हूं अस्पताल खाली रहें-मोदी

अस्पताल आपकी सेवा के लिए हैं, लेकिन मुझे खुशी तब होगी जब ये खाली ही रहें। मैं असम के लोगों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं। हमारी सरकार का फोकस योग, फिटनेस और स्वच्छता पर है। हेल्थ चेकअप के लिए देशभर में नए टेस्टिंग सेंटर्स खोले जा रहे हैं।

Back to top button