समाचार

‘भारत में नहीं चलेगी मेड इन चाइना टेस्ला’, गडकरी ने मस्क को बता दिया ये चालाकी नहीं चलने देंगे

हाल ही में ट्विटर के मालिक बने टेस्ला कंपनी के मालिक एलन मस्क को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने दो टूक कह दिया है कि भारत में नहीं चलेगी मेड इन चाइना टेस्ला। एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने एलन मस्क को ऑफर देते हुए ये भी साफ कर दिया है कि वे भारत में उत्पादन करें। गडकरी ने कहा कि अगर एलन मस्क भारत में उत्पादन करना चाहते हैं तो हमारे पास सभी क्षमताएं और टेक्नोलॉजी हैं। लेकिन अगर वह उत्पादन चीन में करेंगे और भारत में बेचेंगे तो यह अच्छा प्रस्ताव नहीं है।

कार्यक्रम के दौरान गडकरी ने कहा, मैं उनसे अनुरोध करता हूं कि वो यहां उत्पादन शुरू करें। भारत एक बड़ा मार्केट है। यहां बंदरगाह भी हैं। वे भारत से एक्सपोर्ट कर सकते हैं। इस बीच गडकरी ने मेड इन चाइना टेस्ला के कॉन्सेप्ट की भारत में एंट्री की संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा, उनका भारत में स्वागत है।

गडकरी ने कहा कि मान लीजिए कि वह चीन में उत्पादन करना चाहते हैं और भारत में बेचना चाहते हैं तो यह भारत के लिए ठीक नहीं है। हमारा अनुरोध है कि वे भारत आएं और यहां मैन्युफैक्चर करें।

Nitin Gadkari

असल में, दुनिया के सबसे रईस लोगों में से एक एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कंपनी टेस्ला लंबे वक्त से भारतीय मार्केट में आने की राह देख रही है। वह भारत सरकार से टैक्स में छूट मांग कर रही है। लेकिन छूट की डिमांड कई बार खारिज हो चुकी है और कह चुकी है कि इसे पूरा नहीं किया जा सकता। मस्क की कंपनी टेस्ला भारत में अपनी गाड़ियां आयात करना चाहती है और उसे टैक्स में छूट चाहिए। जबकि भारत सरकार कहती रही है कि कंपनी इंपोर्ट करने की जगह स्थानीय स्तर पर गाड़ियां उत्पादन करे।

गौरतलब है कि मस्क ने 14 अप्रैल को ट्विटर को खरीदने की पेशकश की थी। मस्क ने कहा है कि वह ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते हैं, क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि यह स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है। ट्विटर के बोर्ड ने सोमवार को सर्वसम्मति से उनके प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है और शेयरधारकों से भी ऐसा करने की सिफारिश की है।

Back to top button