समाचार

NCP नेता फहमीदा ने PM आवास के बाहर हनुमान चालीसा पाठ की मांगी इजाजत, अमित शाह को लिखी चिट्ठी

महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर, अज़ान और हनुमान चालीसा पर घमासान जारी है। एक तरफ जहां मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने के मामले में अमरावती सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा जेल में हैं। वहीं दूसरी तरफ अब एनसीपी (NCP) भी इस विवाद में कूद पड़ी है।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) की नेता फहमीदा हसन ने अब दिल्ली में पीएम आवास  के बाहर विधिवत हनुमान चालीसा पाठ करने का ऐलान किया है। उन्होंने इस विषय में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर हनुमान चालीसा और अन्य ईश्वरीय स्तुतियों का पाठ करना चाहती हैं। उन्होंने अपना लेटर ट्वीट भी किया है।

फहमीदा हसन ने बताई वजह

फहमीदा हसन ने कहा कि वो हमेशा अपने घर में हनुमान चालीसा और दुर्गा पूजा करती हैं। लेकिन जिस तरह से देश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है। उसको देखते हुए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नींद से जगाना जरूरी हो गया है।

फहमीदा का कहना है कि अगर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के निवास स्थान मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने से रवि राणा और नवनीत राणा को महाराष्ट्र का फायदा दिख रहा है तो देश का फायदा करवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के आवास पर जाकर हनुमान चालीसा समेत कई अलग अलग प्रार्थनाएं करना जरूरी है।

शनि मंत्र पढ़ें नवनीत राणा

नवनीत राणा पर हमला बोलते हुए एनसीपी के विधायक अमोल मिटकरी ने कहा कि नवनीत राणा ने हनुमान चालीसा का पाठ संकट से बचने के लिए किया था। लेकिन अब खुद उनका संकट बढ़ गया है और वह जेल में पहुंच गई हैं। ऐसे में अब उन्हें शनि मंत्र का जाप करना चाहिए ताकि उनकी तकलीफें दूर हो सकें।

जेल में हैं राणा दंपति

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के घर के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान करने वाली नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा सलाखों के पीछे हैं। नवनीत राणा को जेल में एक अलग बैरक में रखा गया है। वहीं उनके पति भी इस मामले को लेकर जेल में बंद है। महाराष्ट्र में चल रही सियासी खींचतान के बीच बीजेपी का एक डेलिगेशन राज्य सरकार की शिकायत करने दिल्ली पहुंचा जिसमें किरीट सोमैया की पिटाई का मामला भी शामिल है।

Back to top button