समाचार

योगी 2.0 में अपराध पर सख्ती और बढ़ी, टॉप-50 माफिया की 1200 करोड़ की संपत्ति होगी जब्त

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की दूसरी बार सरकार बनते ही अपराधियों के खिलाफ सख्ती और बढ़ा दी गई है। अब अगले 2 साल में अभी यूपी के टॉप-50 माफिया की 1200 करोड़ की संपत्ति को जब्त करने का लक्ष्य रखा गया। आपको बता दें योगी आदित्यनाथ के पहले कार्यकाल के 5 साल के दौरान माफियाओं और अपराधियों की 2000 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त की गई थी। आपको बता दें कि आज योगी 2.0 के एक महीने पूरे हो गए हैं।

पुलिस ने रखा टारगेट

गैंगस्टर एक्ट के तहत अपराधियों और माफियाओं की काली कमाई पर कार्रवाई करने में जुटी उत्तर प्रदेश पुलिस अब अगले 2 सालों में माफियाओं के आर्थिक साम्राज्य को पूरी तरह ध्वस्त करने में जुटेगी। यूपी पुलिस ने 2 साल में गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत माफियाओं की 12 सौ करोड़ की संपत्तियों को जब्त करने का टारगेट रखा है।

सीएम योगी के सामने पुलिस का प्रजेंटेशन

हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने दिए गए प्रेजेंटेशन में यूपी पुलिस ने अपने इस नए टारगेट को बताया। बता दे कि 2017 में यूपी में योगी सरकार बनने के बाद प्रदेश के टॉप 25 माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई का अभियान चलाया गया था। अब इसका दायरा बढ़ाकर प्रदेश के टॉप 50 माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने का लक्ष्य रखा गया है।

कार्रवाई की हर हफ्ते होगी समीक्षा

माफियाओं के खिलाफ होने वाली कार्रवाई की शासन स्तर पर हर हफ्ते समीक्षा की जाएगी। साथ ही इन माफियाओं के खिलाफ कोर्ट में चल रहे लंबित मामलों में भी सजा कराने का लक्ष्य रखा गया है। अन्य विभागों की तरह यूपी पुलिस ने भी अगले 100 दिन का लक्ष्य निर्धारित करते हुए शराब माफिया, पशु तस्कर, वन माफिया, खनन माफिया, शिक्षा माफिया आदि को चिन्हित कर 500 करोड़ की संपत्ति जब्त करने का लक्ष्य रखा है।

वहीं अगले 6 महीने में यह लक्ष्य बढ़कर 800 करोड़ होगा। गौरतलब है कि 2017 में बीजेपी सरकार बनने के बाद ही मुख्तार अंसारी, अतीक अहमद, खान मुबारक, अनिल दुजाना जैसे माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाकर 2081 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई। इनमें मुख्तार, अतीक जैसों के गैंग मेंबर पर भी कार्रवाई की गई। माफियाओं के 700 से अधिक सदस्य और सहयोगियों पर 286 मामले दर्ज किए गए, 327 को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया, 102 पर गुंडा एक्ट लगा, 286 पर गैंगस्टर एक्ट लगा और 7 लोगों पर एनएसए तक लगाया गया था।

Back to top button