समाचार

मुंबई: नवनीत राणा व उनके पति रवि राणा गिरफ्तार, शिवसैनिकों ने नहीं करने दिया हनुमान चालीसा पाठ

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में शनिवार को जमकर हंगामा हुआ। उद्धव ठाकरे के पैत्रिक निवास के बाहर हनुमान चालीसा पाठ करने का ऐलान करने वाली निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को गिरफ्तार कर लिया गया है। आपको बता दें कि शिवसैनिकों के भारी हंगामे और बवाल के कारण नवनीत राणा सुबह से ही अपने घर से बाहर नहीं निकल पाईं और शाम 3 बजे उन्होंने अपने हनुमान चालीसा पाठ के फैसले को वापस ले लिया। लेकिन उसके बाद भी मुंबई पुलिस शाम साढे पांच बजे के करीब उनके घर पहुंची और पति-पत्नी को थाने लेकर गई जिसके बाद उनको गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों की गिरफ्तारी शिवसेना के एक नेता की शिकायत पर की गई है। उधर नवनीत राणा और रवि राणा ने भी सीएम उद्धव ठाकरे और शिवसेना कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र के अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा ने शनिवार को उद्धव ठाकरे के पुश्तैनी निवास मातोश्री के सामने हनुमान चालीसा का पाठ नहीं कर पाईं। नवनीत राणा ने महाराष्ट्र में अजान बनाम हनुमान चालीसा के विवाद के बाद सीएम उद्धव की नीतियों के विरोध स्वरूप हनुमान चालीसा पढ़ना चाहती थीं। लेकिन शिवसैनिकों ने इसे चैलेंज के रूप में लिया और मुंबई में नवनीत राणा के घर को घेर लिया। उनके घर में घुसकर हमला करने के भी कोशिश कई गई।

इसके अलावा हजारों की तादाद में शिवसैनिक मातोश्री के आगे जुट गए और मातोश्री आने पर राणा दंपति को सबक सिखाने का बात कही। नवनीत राणा और रवि राणा को मुंबई पुलिस ने धारा 149 के तहत नोटिस भी दिया। नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा के खिलाफ पुलिस ने शिकायत भी दर्ज कर ली है।

शिवसेना के कार्यकर्ताओं के लगातार हंगामे और हिंसा पर उतारू होने के कारण आखिर नवनीत राणा ने अपना निर्णय वापस ले लिया। लेकिन उन्होंने उद्धव पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि असली शिवसेना और शिवसैनिक बाला साहब ठाकरे के साथ ही चली गई। आज शिवसेना गुंडों, लफंगों की पार्टी हो गई और उद्धव उनके नेता बन गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि हिंदू हृदय स्रमाट बाला साहेब ठाकरे के बेटे उद्धव को आज हनुमान चालीसा से परहेज हो गया है।

बडनेर सीट से निर्दलीय विधायक रवि राणा ने एक बयान जारी कर कहा कि कल प्रधानमंत्री मोदी मुंबई आ रहे हैं और हम उनके कार्यक्रम में किसी तरह का विघ्न नहीं चाहते हैं, इसलिए मातोश्री जाकर ‘हनुमान चालीसा’ पढ़ने के अपने फैसले को वापस लेते हैं।

शिवसेना गुंडों की पार्टी- नवनीत राणा

सांसद नवनीत राणा ने कहा कि हमारा उद्देश्य था कि संकट मोचन संकट हटाएं। उद्धव ठाकरे ने हमारे घर गुंडे भेजे हैं। शिवसेना तो खत्म हो गई है। असली शिवसैनिक तो बाला साहब के साथ चले गए हैं। अब गुंडों की शिवसेना रह गई है। हमारे मुख्यमंत्री का सिर्फ यही काम रह गया है कि किस पर क्या कार्रवाई करवानी है, किसे जेल भेजना है और किसे तड़ीपार करना है।

हमारा मकसद पूरा हुआ नवनीत राणा

नवनीत राणा ने आगे कहा कि CM का ध्यान किसान सुसाइड पर नहीं रहता। बिजली समस्या पर नहीं बोलते। बेरोजगारी पर चुप रहते हैं। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से गुजारिश है कि हमारे महाराष्ट्र को बचाया जाए। यहां के हालात बंगाल से भी खराब हो गए हैं। उन्होंने कहा कि दो साल तक CM मंत्रालय तक नहीं गए। हमारा मकसद पूरा हो गया है। अब मातोश्री के बाहर प्रदर्शन नहीं करेंगे

संजय राउत ने दी धमकी

नागपुर में पत्रकारों से बात करते हुए संजय राउत ने कहा, हमें कानून के बारे में मत बताओ, मातोश्री में प्रवेश करने की किसी की हिम्मत नहीं है। यदि आप किसी और के समर्थन से हमारे मातोश्री में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे हैं, तो शिव सैनिक आक्रामक होगा, शिवसैनिक चुप नहीं रहेगा।’ इसके अलावा शिवसेना ने प्रवक्ता संजय राऊत ने धमकी भरे लहजे में कहा था कि शिवसेना को जो चैलेंज देगा उसे  जमीन 20 फीट नीचे गाड़ देंगे। इससे पहले संजय राउत ने राणा दंपत्ति को बंटी-बबली की जोड़ी बताया था।

आपको बता दें कि राणा दंपत्ति ने ऐलान किया था कि वे 23 अप्रैल यानी शनिवार को सुबह 9 बजे मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। उद्धव ठाकरे भी उन्हें नहीं रोक सकते। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को वे बालासाहेब ठाकरे वाला हिंदुत्व याद दिलाना चाहते हैं।

Back to top button