समाचार

मथुरा की शाही ईदगाह में बंद हुआ लाउडस्पीकर, श्रीकृष्ण जन्मस्थान में पहले ही आवाज धीमी की गई थी

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के निर्देश का असर तेजी से होने लगा है। धार्मिक जगहों पर लोग खुद ही लाउडस्पीकर की आवाज धीमी कर रहे हैं, या बंद कर रहे हैं या लाउडस्पीकर ही हटा ले रहे हैं। मथुरा में श्री कृष्ण जन्मस्थान पर लाउडस्पीकर की आवाज कम कर दिए जाने के बाद उससे सटे ईदगाह में जुमे की नमाज के दौरान लाउडस्पीकर नहीं बजे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सभी धार्मिकस्थलों पर लाउडस्पीकर उसी परिसर में बजाए जाने के अनुरोध के बाद शुक्रवार को नमाज के दौरान शाही मस्जिद ईदगाह में नमाजियों ने बिना माइक के ही नमाज पढ़ी। बताया जा रहा है कि ईदगाह पर लाउडस्पीकरों को स्वेच्छा से ही बंद कर दिया गया है।

मस्जिद से हटे तीन लाउडस्पीकर

नमाजियों का कहना है कि जुमे की नमाज के दौरान लाउडस्पीकर का प्रयोग नहीं किया गया। वहीं इस मामले में शाही ईदगाह मस्जिद के प्रबंधन कमेटी के सचिव तनवीर अहमद ने कहा कि मस्जिद में तीन लाउडस्पीकर को हटा दिया गया है और कम आवाज में केवल एक लाउडस्पीकर ही चालू है।

उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया गया है कि मस्जिद में लगे लाउडस्पीकर की आवाज मस्जिद परिसर के बाहर न जाए। तनवीर अहमद ने इसे धार्मिक सद्भाव को बढ़ावा देने वाला कदम बताते हुए कहा कि यह सद्भाव को बढ़ावा देने की ओर एक कदम है, जिसके लिए मथुरा जाना जाता है।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान सेवा संस्थान के सचिव कपिल शर्मा ने बताया कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपील पर हमने लाउडस्पीकर की आवाज कम कर दी थी। सीएम ने अपील की थी कि धार्मिक स्थलों पर बजने वाले लाउडस्पीकर की आवाज परिसर के बाहर न आए। इसी को देखते हुए हमने भागवत भवन मंदिर के लाउडस्पीकर की पिच इतनी कम कर दी है कि अब इसकी आवाज चारदीवारी के बाहर नहीं जाती है।

Back to top button