समाचार

IPS ने लड़की बन मुंबई में बैठे अपराधी को हनीट्रैप में फंसाया: वीडियो कॉल के दौरान जो हुआ वो..

संगम नगरी प्रयागराज में एक ऐसा चौंकाने वाला मामला सामने आया है, जिसमें किसी अपराधी ने नहीं बल्कि एक आईपीएस अफसर ने मुंबई में रह रहे एक शख्स को हनी ट्रैप कर लिया।

ऐसे अपराधी को ट्रैप में फंसाया

आईपीएस अफसर ने खुद ही हनी ट्रैप की फिल्मों सरीखी कहानी रची है। लड़की बनकर मुंबई में रह रहे शख्स से दोस्ती गांठी, उसे अपने जाल में फंसाया। लड़की बनकर फेसबुक पर चैटिंग करते हुए इस शख्स का मोबाइल नंबर हासिल किया। महकमे की महिला कांस्टेबल से कई दिनों तक इस शख्स से प्यार भरी बातें कराईं, लेकिन इसके बाद जो कुछ हुआ वह न सिर्फ अनूठा था, बल्कि बेहद हैरान कर देने वाला भी था। हालांकि हनी ट्रैप करने वाले आईपीएस अफसर को अब इस काम के लिए खूब वाहवाही मिल रही है। उसकी पीठ थपथपाई जा रही है और इतना ही नहीं बड़े अफसरान उसे ईनाम देने की भी तैयारी में हैं।

इन आईपीएस अफसर का नाम चिराग जैन है। राजस्थान के रहने वाले इस आईपीएस को यूपी कैडर एलाट हुआ है। ट्रेनी के तौर पर उन्हें संगम नगरी प्रयागराज में पहली पोस्टिंग मिली है। इसके तहत आईपीएस चिराग जैन को गंगापार इलाके के घूरपुर थाने का इंचार्ज बनाया गया है। थाना प्रभारी के तौर पर चिराग जैन ने चार अप्रैल को कार्यभार संभाला। थाने की कमान संभालते ही आईपीएस चिराग को जानकारी मिली कि उनके इलाके में सत्रह मार्च को अपहरण का एक मामला हुआ है। जिसमें सुरजीत नामक शख्स सत्रह साल की एक नाबालिग लड़की को अगवा कर फरार है। वारदात के बाद से सुरजीत के सभी मोबाइल नंबर स्थाई तौर पर बंद हो गए थे। पुलिस ने काफी हाथ-पैर मारा, लेकिन आरोपी का कोई क्ल्यू नहीं मिल सका।

ऐसे हुआ गिरफ्तार

इस बीच आईपीएस चिराग को यह जानकारी मिली कि अपहरण का आरोपी सुरजीत नये फेसबुक एकाउंट पर लगातार एक्टिव रहता है। आईपी एड्रेस से भी सटीक लोकेशन नहीं मिली तो आईपीएस चिराग ने एक दांव खेला। उन्होंने आरोपी सुरजीत को हनीट्रैप में फंसाने का प्लान तैयार किया। इसके लिए कोमल नाम की एक अंजान लड़की के नाम से फेसबुक एकाउंट बनाया और आरोपी सुरजीत को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। सुरजीत ने रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली तो उससे लड़की बनकर लगातार चैटिंग की। उससे प्यार होने का बहाना रचा।

सुरजीत जब कथित कोमल के प्यार के छलावे में फंस गया तो उससे मुंबई आकर मिलने का वायदा किया और धोखे से उसका एक्टिव मोबाइल नंबर हासिल कर लिया। इस मोबाइल नंबर पर कई दिनों तक कीर्ति नाम की महिला कांस्टेबल से मीठी और प्यार भरी बातें कराई गईं। लोकेशन जानने के लिए वीडियो काल भी कराई गई। वीडियो काल में एक होटल का बोर्ड पीछे नजर आया, जो मुंबई के वाशी इलाके का था। इसी होटल के बाहर मिलने का वायदा किया गया। चार पुलिस वालों की एक टीम मुंबई भेजी गई। कथित कोमल के प्यार में पागल सुरजीत जैसे ही मिलने के लिए पहुंचा, पुलिस टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

युवक गया जेल

आईपीएस चिराग जैन के मुताबिक आरोपी सुरजीत नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर अपने साथ भगा ले गया था। लड़की को लेकर वाशी इलाके में ही किराए के एक कमरे में रुका हुआ था। शादी का वायदा कर उसके साथ रिश्ते बनाए हुआ था। सुरजीत इतना शातिर था कि नाबालिग के साथ रहने के साथ-साथ फेसबुक के सहारे फर्जी लड़की के पर भी डोरे डालने लगा। इसी में हनी ट्रैप का शिकार होकर पुलिस के हत्थे चढ़ गया। मुंबई से ट्रांजिट रिमांड पर लेने के बाद पुलिस ने उसे प्रयागराज की कोर्ट में पेश किया, जहां कोर्ट के आदेश पर उसे जेल भेज दिया गया है।

Back to top button