समाचार

झारखंड के धनबाद में अवैध खनन के दौरान बड़ा हादसा, 50 मीटर दायरे की जमीन धंसी, कई लोग दबे

झारखंड के धनबाद में गुरुवार को कोयले के अवैध खनन के दौरान बड़ा हादसा हो गया। चांच विक्टोरिया क्षेत्र संख्या 12 के चिरकुंडा थाना के अंतर्गत डुमरीजोड़ गांव के पास अवैध खनन के दौरान जमीन धंस गई। भू धंसान का दायरा 50 मीटर के क्षेत्र में है। हादसे में कई लोगों के दबे होने की भी सूचना मिली है।

तेज आवाज के साथ धंस जमीन

बताया जाता है कि चिरकुंडा थाना अंतर्गत चांच पंचायत के डुमरीजोड़-चांच लाइन पार इलाके में अचानक रेल लाइन का रास्ता तेज आवाज के साथ धंस गया। डुमरीजोड़ में लंबे समय से अवैध खनन चल रहा था। इसकी डोजरिंग बीसीसीएल प्रबंधन द्वारा कराई गई थी, लेकिन तस्करों कर ओर से लगातार खनन जारी था। इधर, गुरुवार की सुबह 8 बजे जोरदार आवाज के साथ जमीन धंस गई। हाई टेंशन तार समेत बिजली का पोल भी इसकी चपेट में आ गया।

हादसे में एक दर्जन से ज्यादा लोगों के दबे होने की खबर मिल रही जिनका रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इसके कारण नूतनग्राम, चांच, पतलाबाड़ी, बूट बाड़ी में बिजली आपूर्ति प्रभावित हुई है। वहीं सड़क धंसने से डुमरीजोड़, बाबू डंगाल, लाइन पार, बूट बाड़ी के लोगों के समक्ष नई समस्‍या उत्‍पन्‍न हो गई है। जानकारी हो कि नूतनग्राम से चांच पोटरी जाने वाली सड़क डुमरीजोड़ के पास एक वर्ष पूर्व भी धंस गई थी। उस वक्त ही कयास लगाया जा रहा था कि यह पूरा इलाका धंसान क्षेत्र बन गया है।

घटना के बाद लोगों में रोष व्याप्त है। ग्रामीण एवं स्थानीय लोग तस्करों की पहचान कर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। मामले में बीसीसीएल सीवी एरिया के महाप्रबंधक एके दत्ता का कहना है कि भू-धंसान की सूचना प्रशासन से मिली है। उसमें ओबी डालने के लिए मशीन की मांग की गई है, जिसे जल्द उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्‍होंने कहा कि उक्त जगह पर एक सप्ताह पहले ही भराई की गई थी। इस पर नजर रखना स्थानीय प्रशासन का काम था। फिलहाल प्रशासन उक्त जगह को मलबा डालकर ढंकने की तैयारी में है।

पहल भी धंसते रही है भूमि

आपको बता दें कि अवैध खनन में पहले भी लोग अपनी जान गंवाते रहे हैं। अभी एक महीना पहले ही दहीबाड़ी और सी पैच में अवैध खनन के दौरान जमीन धंसने से कई लोगों की जान चली गई थी। जिला प्रशासन ने भी उस समय पांच मौतों की पुष्टि की थी।

Back to top button