समाचार

लाउडस्पीकर का इस्लाम से कोई संबंध नहीं, असम के CM ने कहा-एग्जाम, दूसरे उत्सवों के समय ना बजाएं

लाउडस्पीकर पर अजान करने का विवाद थम नहीं रहा है। अब असम के सीएम ने लाउडस्पीकर को लेकर बड़ा बयान दिया है। असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने लाउडस्पीकर मुद्दे पर कहा कि लाउडस्पीकर नबी के समय में नहीं था, यह धर्म से. जुड़ा हुआ नहीं है। यह धीरे-धीरे विकसित हुआ। ऐसे में धर्मनिरपेक्ष देश में यह हमारी ड्यूटी बनती है कि अगर कोई एग्जाम चल रहा है या कोई दूसरा उत्सव है तो इसे न चलाएं।

भारतीय संस्कृति पर हमले की कोशिश

सीएम हेमंत बिस्वा शर्मा  ने यह भी कहा कि पिछले कुछ समय से हमारी सभ्यता पर आक्रमण हो रहा है. ऐसे में यह देखना चाहिए. अगर उचित या genuine डिमांड है, जैसे कि कोई एग्जाम चल रहा है तो लाउडस्पीकर न बजाएं। हेमंत बिस्वा शर्मा ने PFI और CFI को बैन करने की मांग भी की। उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसियों से हमें इनपुट मिला था कि असम में कुछ जिहादी तत्व सक्रिय हैं। इसके बाद असम पुलिस ने इस पर कार्रवाई की और कुछ जिहादियों को गिरफ्तार किया है।

himanta

असम में जिहादियों पर हो रही कार्रवाई

मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि कुछ और लोग जो जिहादियों के साथ जुड़े हुए हैं, उनके खिलाफ भी कदम उठाया जा रहा है। असम को हमेशा जिहादी कार्यों के लिए हॉट बेड की तरह इस्तेमाल किया जा रहा था। पिछले एक दशक में उग्रवादी तत्वों ने असम को इस्तेमाल करने की कोशिश की, लेकिन असम पुलिस इन सब उग्रवादी तत्वों के विरोध में काफी सक्रिय रही।

PFI, CFI पर बैन की मांग

सीएम ने कहा कि जिन जिहादियों को गिरफ्तार किया गया है, उनसे अभी सीधा संपर्क पीएफआई, सीएफआई से प्रमाणित नहीं हो पाया है, लेकिन हमने केंद्र सरकार से अपील की है कि पीएफआई और सीएफआई को बैन किया जाए, क्योंकि यह कट्टरवाद से जुड़े हुए हैं। कांग्रेस नेता रिपन बोरा के कांग्रेस छोड़कर टीएमसी ज्वाइन करने पर हेमंत बिस्वा शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के सभी नेताओं से मेरा बहुत अच्छा संबंध है, क्योंकि मैंने 22 साल उनके साथ उनके साथ बिताए हैं, लेकिन बाय डिफॉल्ट असम कांग्रेस मुक्त हो रहा है।

Back to top button