समाचार

पहली बार इंजीनियर के हाथ आई सेना की कमान, लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे होंगे अगले आर्मी चीफ

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे अगले सेना प्रमुख होंगे।मनोज पांडे सेना के वर्तमान उप-प्रमुख हैं और वह जनरल एम.एम. नरवणे की जगह लेंगे जो इस महीने के अंत तक सेवानिवृत्त होने वाले हैं। ले. जनरल पांडे सेना प्रमुख बनने वाले कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी होंगे। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे भारतीय थल सेना के 29वें अध्यक्ष चुने गए हैं। वर्तमान सेना प्रमुख जनरल नवरणे का कार्यकाल 30 अप्रैल को खत्म होने जा रहा है।

कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी

मनोज पांडे सेना प्रमुख बनने वाले कोर ऑफ इंजीनियर्स के पहले अधिकारी होंगे। इस पद पर अब तक इन्फैंट्री, आर्मर्ड और आर्टिलरी अधिकारियों का कब्जा रहा है। सूत्रों ने कहा कि लेफ्टिनेंट जनरल पांडे, जो पूर्वी सेना कमांडर रहे हैं और वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ प्रौद्योगिकी के अधिक एकीकरण के प्रमुख समर्थकों में से एक हैं। वह अपने साथ सेना प्रमुख की कुर्सी पर ऑपरेशनल और रसद दोनों अनुभव लाएंगे।

मनोड पांडे ने 1 फरवरी को रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती की जगह सेना के उप-प्रमुख की जिम्मेदारी संभाली थी। जिम्मेदारी संभालने से पहले वो राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र कोलकाता में पूर्वी कमान का नेतृत्व कर रहे थे।

मनोज पांडे 1982 में कोर ऑफ इंजीनियर्स में शामिल हुए, लेफ्टिनेंट जनरल पांडे ने एलओसी के साथ पल्लनवाला सेक्टर में ऑपरेशन पराक्रम के दौरान एक इंजीनियर रेजिमेंट की कमान संभाली। लगभग चार दशक के सैन्य करियर में, जनरल मनोज पांडे ने पश्चिमी थिएटर में इंजीनियर ब्रिगेड और LOC पर सेना ब्रिगेड की कमान संभाली है। उन्होंने लद्दाख में एक पर्वतीय विभाजन और उत्तर पूर्व में एक वाहिनी का नेतृत्व भी किया।

ले. जनरल मनोज पांडे अंडमान एंड निकोबार कमांड के कमांडर इन चीफ का पद भी संभाल चुके हैं। ले. जनरल मनोज पांडे परम विशिष्ट सेवा मेडल, अति विशिष्ट सेवा मेडल और विशिष्ट सेवा मेडल हासिल कर चुके हैं।

सरकारी सूत्रों के मुताबिक, अगला चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) कौन होगा, इस पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। इस पर भी जल्द फैसला होने वाला है। पिछले सीडीएस जनरल बिपिन रावत की पिछले साल दिसंबर में एक हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो जाने के बाद से यह पद खाली पड़ा है।

Back to top button