समाचार

दिल्ली में हिंसा के बाद भारी तनाव, शोभायात्रा पर मस्जिद के पास बड़ा हमला,अंसार समेत 15 गिरफ्तार

दिल्ली के जहांगीर पुरी में सांप्रदायिक हिंसा में कई लोग घायल हो गए हैं। बताया जा रहा है कि हनुमान जंयती पर शोभायात्रा के दौरान मस्जिद के पास जमकर पथराव हुआ। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक करीब 1 हजार लोगों की भीड़ ने पत्थरों से हमला कर दिया। हमलावर तलवार भी लहरा रहे थे। दंगाई भीड़ में से ही गोली भी चलाई गई। बताया जा रहा है कि दंगाइयों ने करीब 6 राउंड फायरिंग की, जिसमें एक पुलिसवाला घायल हो गया है। शोभायात्रा पर हुए हमले में कई लोग घायल हो गए हैं।

अबतक 15 लोग गिरफ्तार

जहांगीरपुरी में शनिवार को हनुमान जयंती के मौके पर हिंसा के मामले में पुलिस ने 15 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि 10 लोग हिरासत में लिए गए हैं।

ऐसे शुरू हुई हिंसा

पुलिस ने इस मामले में जो FIR दर्ज की है, इसमें दावा किया गया है कि शोभायात्रा शांति से चल रही थी। जब शोभायात्रा जामा मस्जिद के पास यात्रा पहुंची, तो कुछ लोग वहां आए और शोभायात्रा में शामिल लोगों से बहस करने लगे। बताया जा रहा है कि यहीं से हिंसा की शुरुआत हुई। बता दें कि पुलिस ने शोभायात्रा में फायरिंग करने के आरोपी असलम को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही हथियार भी बरामद कर लिया है।

पुलिस इंस्पेक्टर राजीव रंजन ने FIR दर्ज कराई है। FIR में इस बात का जिक्र किया गया है कि जहांगीरपुरी के इलाके में हनुमान जन्मोत्सव के उपलक्ष्य में एक पक्ष की ओर से शोभायात्रा निकाली जा रही थी। तभी करीब 4-5 लोग आए और शोभायात्रा निकाल रहे लोगों से बहस करने लगे। बहस बढ़ने पर देखते ही देखते दोनों पक्षों में पथराव शुरू हो गया। इस कारण शोभायात्रा में भगदड़ मच गई।

FIR में जिक्र है कि पुलिस ने पथराव रोकने और शांति बनाए रखने की अपील करते हुए दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर अलग कर दिया, लेकिन थोड़ी देर बाद. ही दोनों पक्षों की ओर से फिर से नारेबाजी और पथराव शुरू हो गया। हालात संभालने के लिए सीनियर अधिकारियों ने लोगों से शांति बनाए रखने की बार-बार अपील की। लेकिन एक पक्ष की ओऱ से लगातार पत्थरबाजी की जा रही थी। हालात काबू करने के लिए 40-50 आंसू गैस के गोले छोड़े. भीड़ को तितर बितर किया।

पुलिस पर भी हमला

पुलिस की ओर से दर्ज कराई गई FIR में कहा गया है कि भीड़ की तरफ से पुलिस पर फायरिंग और पथराव किया गया। इसमें एसआई मेदालाल के बाएं हाथ में गोली लगी. जबकि 6-7 पुलिसकर्मियों और एक आम आदमी को भी गंभीर चोटें आई. इतना ही नहीं, उपद्रवी भीड़ ने एक स्कूटी में आग लगा दी। साथ ही 4-5 गाड़ियों में तोड़-फोड़ कर दी।

अंसार नाम के शख्स ने की लोगों से बहस

FIR की जो कॉपी है, उसके मुताबिक जब शोभा यात्रा जहांगीरपुर के सी ब्लॉक में जामा मस्जिद के पास पहुंची तो अंसार नाम का एक आदमी अपने चार-पांच साथियों के साथ पहुंचा और शोभा यात्रा में शामिल लोगों से बहस करने लगा। इसके बाद ही विवाद बढ़ गया और पत्थरबाजी शुरू हो गई। जिन 15 लोगों की गिरफ्तारी हुई है उसमें अंसार भी शामिल है।

FIR में क्या लिखा है?

  • शाम 6 बजे शोभा यात्रा जहांगीरपुरी के जामा मस्जिद पहुंची।
  • अंसार नाम का आदमी 4-5 साथियों के साथ पहुंचा।
  • अंसार ने शोभा यात्रा में शामिल लोगों से बहस की।
  • झगड़ा बढ़ा और पत्थरबाजी शुरू हो गई।
  • हिंसा काबू करने के लिए 40-50 आंसू गैस के गोले छोड़े गए।
  • भीड़ की तरफ से फायरिंग भी की गई।
  • गोली लगने से SI मेदालाल जख्मी हो गए।
  • फायरिंग, पथराव कर सांप्रदायिक दंगा किया गया।

Back to top button