राजनीति

MNS पर भड़के संजय राउत, कहा BJP यूपी में ओवैसी की तरह महाराष्ट्र मे राज ठाकरे का इस्तेमाल करेगी

महाराष्ट्र में अजान का विवाद उठने के बाद शिवसेना MNS प्रमुख राज ठाकरे से काफी नाराज दिख रही और लगातार उन पर हमले कर रही है। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत इसके पीछे बीजेपी का हाथ देख रहे हैं। यही नहीं राउत ने महाराष्ट्र और देशभर में इस तरह के विवादों के पीछे बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

राज ठाकरे महाराष्ट्र के ओवैसी

संजय राउत ने कहा बीजेपी के लिए राज ठाकरे महाराष्ट्र के ओवैसी हैं। जो काम यूपी में ओवैसी ने किया, वही काम बीजेपी महाराष्ट्र में राज ठाकरे के माध्यम से कराना चाहती है। उन्होंने कहा कि राज ठाकरे बीजेपी का लाउडस्पीकर बन गये हैं। संजय राउत ने उन अटकलों को भी सिरे से खारिज कर दिया कि महाराष्ट्र में शिवसेना ओवैसी के साथ किसी तरह का गठबंधन करेगी

चुनाव के वजह से उठा अजान, हिजाब मुद्दा

संजय राउत ने कहा कि अगर गौर करें तो ये मुद्दे उन्हीं राज्यों में उठ रहे हैं, जहां आने वाले दिनों में चुनाव होने हैं। रामनवमी से जुड़े विवाद या हिंसा के मामले ही देख लीजिए, ज्यादातर वहीं हुए जहां चुनाव होने हैं। चाहे मध्य प्रदेश हो या गुजरात। महाराष्ट्र में अजान का मुद्दा बीजेपी ने नहीं उठाया, उनकी सी या डी टीम ने उठाया है। वह भी मुंबई महानगर पालिका के चुनाव को देखते हुए उठाया गया है।

मेरे ऊपर बदले की कार्रवाई-राउत

ED कार्रवाई से नाराज संजय राउत ने कहा पिछले चार महीने से मेरे साथ जो घटित हो रहा है, वह सब मैंने राज्यसभा के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को बताया है। मैंने उन्हें बताया कि किस तरह मुझे धमकाया जा रहा है। खुलकर कहा जा रहा है कि सरकार गिराने में मदद कीजिए नहीं तो आपको सेंट्रल एजेंसी के चक्रव्यूह में फंसाया जाएगा। इस पर मेरा जवाब था कि सरकार तो रहेगी और काम करती रहेगी। मैं डरने वाला नहीं हूं।

मोदी-पवार मुलाकात पर ये कहा

मोदी-शरद पवार की मुलाकात के बाद सियासी अटकलों के बारे में संजय राउत ने कहा कि मोदी देश के पीएम हैं, जबकि शरद पवार कद्दावर नेता हैं। पीएम से कोई भी जाकर मिल सकता है। उन्हों ने एनसीपी-बीजेपी में किसी तरह के तालमेल वाली अटकलों को खारिज कर दिया।

BMC चुनाव पर ये कहा

संजय राउत ने कहा मुंबई महाराष्ट्र की राजधानी है। यहां ठाणे, कल्याण, डोंबिवली जैसी बड़ी महानगर पालिकाओं में पिछले 50 सालों से हमारी सत्ता रही है। इस बार भी हमारी कोशिश रहेगी कि कैसे हमारा गठबंधन महाविकास आघाडी मिलकर चुनाव लड़ सकता है। गठबंधन के सवाल पर उन्होंने कहा कोई नया साथी नहीं होगा। हमारा साथी महाविकास आघाडी ही रहेगा।

क्या गठबंधन में कांग्रेस असहज है?

कांग्रेस के साथ गठबंध पर संजय राउत ने कहा कांग्रेस में जो कुछ भी हो रहा है, वह उसका अंदरूनी मामला हो सकता है। उस पर मैं टिप्पणी नहीं कर सकता। सरकार के साथ कांग्रेस को कोई दिक्कत नहीं है। आपको समझना होगा कि अगर यह गठबंधन नहीं होता तो महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य में कांग्रेस सत्ता में नहीं आती। सरकार के प्रति उन्हें कृतज्ञ होना चाहिए और वह हैं भी।

Back to top button