समाचार

रिमोट सीएम! केजरीवाल ने पंजाब के अधिकारियों की बैठक ली, विपक्ष भड़का, भगवंत मान ने दी ये सफाई

जैसी आशंका जताई जा रही थी पंजाब में कुछ-कुछ वैसा ही दिखना शुरू हो गया है। आशंका जताई गई थी आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल रिमोट कंट्रोल के जरिए दिल्ली से ही पंजाब सरकार चलाएंगे और भगवंत मान को सीएम फेस बनाकर केवल मुखौटे की तरह इस्तेमाल किया जाएगा।

इसकी एक झलक तब देखने को मिली जब दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने पंजाब के आला अधिकारियों की दिल्ली में मीटिंग ली और इस मीटिंग में पंजाब के सीएम भगवंत मान मौजूद नहीं थे। पंजाब की विपक्षी पार्टियां इस पर भड़क गई हैं और इसे पंजाब का घोर अपमान बता रही हैं। जिसके बाद सीएम भगवंत मान ने सफाई पेश की है।

केजरीवाल ने पंजाब के अधिकारियों की बैठक ली

गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दिल्ली में पंजाब के मुख्य सचिव और पंजाब बिजली विभाग के बड़े अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है। जब केजरीवाल अधिकारियों संग बैठक कर रहे थे, तब पंजाब के सीएम भगवंत मान वहां मौजूद नहीं थे।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कथित तौर पर पंजाब राज्य बिजली निगम के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में पंजाब के मुख्य सचिव और सचिव (ऊर्जा) भी उपस्थित थे। लेकिन इस बैठक में भगवंत मान के उपस्थित न होने की खबरों को लेकर विपक्ष ने आम आदमी पार्टी को निशाने पर लिया।

क्या केजरीवाल हैं रिमोट सीएम?

विपक्षी दलों ने केजरीवाल पर दिल्ली से रिमोट कंट्रोल के जरिए पंजाब चलाने का आरोप लगाया है। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा, पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू , भाजपा के मनजिंदर सिरसा और अकाली दल के दलजीत चीमा ने ट्वीट कर आप सरकार पर निशाना साधा था। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने कहा कि भगवंत मान की गैरमौजूदगी में आईएएस अधिकारियों को अरविंद केजरीवाल द्वारा बुलाया गया। यह डिफैक्टो सीएम और दिल्ली के रिमोट कंट्रोल को बेनकाब करता है। यह संघवाद के उल्लंघन के साथ पंजाब का अपमान है। इस पर दोनों को जवाब देना होगा।

पंजाब का विपक्ष भड़का

पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा ने ट्वीट किया था, “पंजाब के ‘वरिष्ठ अधिकारी’ क्या अब @ArvindKejriwal साहिब के दरबार में हाजरी लगायेंगे? क्या पंजाब के मुख्यमंत्री @BhagwantMann जी सिर्फ़ नाममात्र के मुखिया हैं? इसे कहते हैं ‘Reebok’ दिखा कर ‘Reebuk’ पकड़ाना!

navjot singh sidhu

सिद्धू ने किया ये तंज

पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने लिखा था कि चलने दो आंधियां हकीकत की, न जाने कौन से झोंके से बहरूपियों के मुखौटे उड़ जाएं.. यह संघवाद का स्पष्ट उल्लंघन, पंजाबी गौरव का अपमान है. दोनों को सफाई देनी चाहिए।

भगवंत मान की सफाई

आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल  द्वारा पंजाब के अधिकारियों की बैठक लेने के बाद विपक्ष लगातार सीएम भगवंत मान (Bhagwant Mann) पर ‘रिमोट कंट्रोल’ का आरोप लगा रहा है। इन आरोपों पर भगवंत मान ने घोषणा की कि अधिकारियों को प्रशिक्षण लेने के लिए भेजने का निर्णय उनका था। भगवंत मान ने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो प्रशिक्षण के लिए मैं अपने अधिकारियों को गुजरात, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और यहां तक कि इस्राइल भी भेजूंगा। इसमें किसी को आपत्ति क्यों होनी चाहिए?

Back to top button