समाचार

जैसे को तैसा: नए पाकिस्तानी PM शहबाज को राजनाथ ने सख्त मैसेज के साथ दी शुभकामना, कहा पहले…

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पाकिस्तान के नए पीएम शाहबाज शरीफ को बधाई दी है लेकिन शुभकामना के साथ ही सख्त संदेश भी दे दिया है। राजनाथ ने कहा कि पाकिस्तानी पीएम आतंकवाद को काबू में रखें। आपको बता दें कि पाकिस्तान की पीएम बनते ही शाहबाज शरीफ ने कश्मीर राग आलापा था। इसीलिए राजनाथ सिंह ने भी शायद अपनी शुभकामना बेहद सख्ती के साथ जैसा को तैसा वाले अंदाज में दे दी है।

Rajnath Singh

राजनाथ सिंह ने ये कहा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ को बधाई दी है साथ ही उन्होंने एक संदेश भी दिया है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अपने पड़ोसी देश(पाकिस्तान) के नए प्रधानमंत्री(शहबाज़ शरीफ) को यही संदेश देना चाहेंगे कि वे अपने यहां आतंकवाद पर लगाम लगाने में कामयाबी हासिल करें। हमारी उनको शुभकामनाएं हैं। आपको बता दें कि राजनाथ सिंह 2+2 वार्ता के लिए अमेरिका के दौरे पर हैं। उन्होंने न्यूज एजेंसी ANI को दिए इंटरव्यू में शहबाज शरीफ को ये संदेश दिया है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी शहबाज शरीफ को बधाई दी थी। उन्होंने ट्वीट किया कि मियां मुहम्मद शहबाज शरीफ को पाकिस्तान का प्रधानमंत्री चुने जाने पर बधाई। भारत क्षेत्र में शांति और स्थिरता चाहता है जो आतंकवाद से मुक्त हो, ताकि हम अपनी विकास चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित कर सकें और अपने लोगों की भलाई एवं समृद्धि सुनिश्चित कर सकें।

शहबाज शरीफ का कश्मीरी राग

शहबाज शरीफ प्रधानमंत्री का पद संभालने के साथ ही कश्मीर का राग अलापा। उन्होंने पद संभालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संदेश देते हुए कहा है कि कश्मीर मुद्दे का समाधान कश्मीरी लोगों की इच्छा के मुताबिक किया जाना चाहिए। शहबाज शरीफ ने कहा कि हम भारत के साथ बेहतर रिश्ते चाहते हैं, लेकिन जब तक कश्मीर मुद्दे पर शांतिपूर्ण तीरीके से समाधान नहीं निकल जाता, ये संभव नहीं है।

राजनाथ सिंह और क्या कहा?

समाचार एजेंसी एएनआई के साथ चर्चा में पड़ोसी देशों पाकिस्तान व चीन को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि यह स्पष्ट है कि जब भी अमेरिका व भारत के बीच द्विपक्षीय वार्ता होती है तो आतंकवाद का मुद्दा उठाया जाता है। हमने अमेरिका के साथ 2+2 वार्ता में भी इस पर विचार किया। अमेरिका से किसी आश्वासन का सवाल नहीं, हमने सिर्फ चर्चा की।

रक्षामंत्री ने कहा कि अमेरिका हमारा स्वाभाविक मित्र है, इसमें कोई दो राय नहीं है। चीन को लेकर उन्होंने कहा कि  हम सभी देशों के साथ अच्छे संबंध रखना चाहते हैं।


अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड जेम्स आस्टिन के साथ 2+2 के मौके पर सिंह ने एएनआई से चर्चा में कहा कि रूस को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि रक्षा उपकरणों के स्पेयर पॉर्ट्स के लिए हम रूस पर निर्भर हैं और पाबंदियों के चलते हमें दिक्कतें आ सकती हैं। हम इससे निपटने में सक्षम हैं। अमेरिका से इस बारे में कोई बात नहीं हुई है।

2+2 वार्ता में अमेरिकी विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने रूस से बड़े रक्षा करार नहीं करने का अनुरोध किया। अमेरिका द्वारा सस्ते रक्षा उपकरणों की पेशकश को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मूल्य की बात तब होती है, जब हमें रक्षा सामग्री की जरूरत हो या हम तैयार नहीं कर सकते हों। जब भी जरूरत होगी, हम बाहर से खरीदेंगे। राजनाथ सिंह ने अमेरिकी रक्षा मंत्री आस्टिन के साथ पेंटागन में मुलाकात की। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच यूक्रेन व चीन को लेकर बात हुई।

Back to top button