समाचार

‘जन्नत में हूर मिलेंगी, वहां बीवी का क्या काम’, मुर्तजा के जवाबों ने ATS को हैरत में डाल दिया!

मुस्लिम कट्टरपंथी और ISIS जैसे इस्लामी संगठन मुस्लिम युवाओं को किस तरफ ले जा रहे हैं, इसकी एक बानगी गोरखनाथ मंदिर में हमला करने वाला IIT ग्रेजुएट मुर्तजा अब्बासी है। मुर्तजा के पिता उसे दिमागी तौर पर बीमार साबित करने में लगे हैं, लेकिन ATS को लग रहा है कि वह बेहद शातिर हैं। ATS की अब तक की पूछताछ में मुर्तजा ने जितने भी सवालों के जवाब दिए हैं, उससे लग रहा है कि वह झूठ नहीं बोल रहा है।

जन्नत में बहुत सी हूर मिलेंगी

सूत्र बताते हैं कि जब मुर्तजा से शादी और फिर तलाक के बारे में सवाल किया गया तो उसने कहा- अल्लाह के घर में यानी कि जन्नत में बहुत सारी हूरें मिलेंगीं। वहां बीवी का क्या काम? अल्लाह के घर जाना है तो सबको छोड़ना होगा।

मल्टीनेशनल कंपनी की नौकरी छोड़ गोरखपुर आना, फिर परिवार और समाज में किसी से मतलब नहीं रखना और कमरे में अकेले रहने के सवालों पर मुर्तजा तपाक से बोला कि अल्लाह के घर में सिर्फ अल्लाह की सुनिए…अल्लाह से मतलब रखिए और अल्लाह के ही बताए रास्तों पर चलिए, फिर जन्नत मिलेगी।

मुर्तजा के बड़े पिता ने ईमेल से भेजा जवाब

मुर्तजा के बड़े पिता और नामी डॉक्टर केए अब्बासी को पूछताछ और बयान दर्ज कराने के लिए ATS ने लखनऊ तलब किया, लेकिन वह नहीं गए। उन्होंने ATS मुख्यालय को ईमेल भेजकर नोटिस का जवाब दिया है। धारा-160 CRPC का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी उम्र 60 साल से ज्यादा है। ऐसे में वे लखनऊ जाकर बयान दर्ज कराने में असमर्थ हैं। इसके बाद वह अपना बयान दर्ज कराने गोरखपुर स्थित ATS दफ्तर पहुंचे, लेकिन यहां संबंधित अधिकारी के नहीं होने से फिलहाल उनका बयान दर्ज नहीं हो सका है।

 साजिश का पता लगा रही ATS 

हालांकि ATS टीम लगातार इस मामले की परत-दर-परत खोलकर मामले की तह तक पहुंचने में जुटी है। यही वजह है कि PGI और KGMU जैसी संस्थाओं के डॉक्टरों के पैनल बोर्ड से ATS मुर्तजा का मेडिकल चेकअप कराने की भी तैयारी कर रही है, ताकि यह साफ हो सके कि इतनी बड़ी वारदात और उसके जेहन में भरे जहर की असल वजह क्या है? फिलहाल ATS उसके बैंक खातों को ब्लॉक कराकर उसके सभी ट्रांजैक्शन खंगाल रही है

विदेशी इस्लामिक संस्थाओं को भेजता था पैसे

मुर्तजा के बैंक ट्रांजैक्शन भी सामने आए हैं। दावा किया जा रहा है कि सुरक्षा एजेंसियों ने जून 2021 में क्रेडिट कार्ड से मुर्तजा द्वारा किए गए ट्रांजैक्शन को ट्रैक किया है। इसमें पता चला है कि मुर्तजा कई इस्लामिक संस्थाओं को पे-पाल ऐप के जरिए विदेश में पैसे भेजता था। उसने बीते 4 से 5 महीने में शमीउल्लाह नाम के व्यक्ति के खाते में कई बार हजारों रुपए भेजे थे।

जिहाद की ऑनलाइन शपथ ली थी

मुर्तजा से जानकारी मिली थी कि वह सीरिया की एक युवती के साथ संपर्क में था। कई बार उसने अपनी महिला मित्र को ऑनलाइन पैसा भी ट्रांसफर किया और जिहाद की ऑनलाइन शपथ भी ली थी।

महाराजगंज और संभल से कनेक्शन

 ATS ने महाराजगंज से उसके एक परिचित को भी पकड़ा है। नेपाल से लौटने के बाद मुर्तजा इसी शख्स से मिला था। इसके अलावा संभल के मियां सराय के रहने वाले मुर्तजा के परिचित की तलाश भी ATS को है। माना जा रहा है कि मुर्तजा के पूरे नेटवर्क और उसके विदेशी कनेक्शन तक पहुंचने के लिए NIA इस केस को टेकओवर कर सकती है।

Back to top button