समाचार

विदेश पढ़ने जाना क्या खतरनाक बनता जा रहा है, इस भारतीय बच्चे के साथ जो हुआ किसी के साथ ना हो..

विदेशों में भारतीय छात्र पर हमलों की घटनाएं पिछले कुछ सालों से बढ़ गई हैं। अब कनाडा में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने उन अभिभावकों और माता-पिता की रोंगटे खड़े कर दिए हैं जिनके बच्चे विदेशों में पढ़ाई कर रहे हैं। कनाडा में एक भारतीय छात्र की हत्या कर दी गई है। टोरंटो शहर में एक सबवे स्टेशन के एंट्री गेट पर गोली मारकर में 21 वर्षीय भारतीय छात्र की हत्या कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि यह घटना तब हुई, जब छात्र काम पर जा रहा था और उसे कई गोलियां लगी गईं।

पुलिस के मुताबिक, मृतक छात्र की पहचान कार्तिक वासुदेव के रूप में हुई है। उसे सेंट जेम्स टाउन में शेनबोर्न टीटीसी स्टेशन के ग्लेन रोड प्रवेश द्वार पर गुरुवार शाम गोली मारी गई थी। टोरंटो पुलिस सेवा ने एक बयान में बताया कि मौके पर प्राथमिक उपचार देने के बाद वासुदेव को अस्पताल ले जाया गया था, जहां उसने दम तोड़ दिया। टोरंटो पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पुलिस ने बताया कि जांचकर्ता उन गवाहों की तलाश कर रहे हैं, जो घटना के समय इलाके में मौजूद थे। साथ ही ऐसे लोगों की तलाश भी की जा रही है, जिन्होंने घटना का वीडियो बनाया हो।

विदेश मंत्री ने जताया शोक

टोरंटो में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने गुरुवार को एक ट्वीट कर कहा, ‘‘हम टोरंटो में गोलीबारी की घटना में भारतीय छात्र कार्तिक वासुदेव की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या से स्तब्ध और व्यथित हैं। परिवार के साथ संपर्क में हैं और शव को जल्द परिजनों को सौंपने के लिए हर संभव मदद प्रदान करेंगे। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी भारतीय छात्र की हत्या पर शोक जताया है। जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘इस घटना से बेहद दुखी हूं. परिवार के प्रति संवेदनाएं।


बिजनेस मैनेजमेंट के छात्र थे कार्तिक

वासुदेव के भाई ने मीडिया को बताया कि वह सेनेका कॉलेज का छात्र था । वह जनवरी में कनाडा पहुंचा था। सेनेका कॉलेज ने बताया कि वासुदेव ने बिजनेस मैनेजमेंट कोर्स में दाखिला लिया था। कॉलेज के एक प्रक्ता ने बयान जारी कर कहा कि सेनेका समुदाय बिजनेस मैनेजमेंट पाठ्यक्रम के पहले सेमेस्टर के छात्र कार्तिक वासुदेव की मौत के बारे में सुनकर दुखी है।

वासुदेव के परिवार, दोस्तों और सहपाठियों के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं। छात्रों और कर्मचारियों को काउंसिलिंग मुहैया कराई जा रही है। पुलिस ने बताया कि गोलीबारी का संदिग्ध लगभग 5.7 फीट लंबा अश्वेत व्यक्ति है। उसे आखिरी बार हावर्ड स्ट्रीट की ओर ग्लेन रोड पर दक्षिण दिशा में हाथ में बंदूक लेकर चलते हुए देखा गया था। छात्र का पार्थिव शरीर तीन दिन में भारत पहुंचने की उम्मीद है।

साहिबाबाद के डीएवी स्कूल से पढ़ा है कार्तिक
सेक्टर-5 राजेंद्रनगर स्थित केशव कुंज अपार्टमेंट में जितेश वासुदेव पत्नी व छोटे बेटे पार्थ के साथ रहते हैं। जितेश एक आईटी कंपनी में प्रॉजेक्ट मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं। उन्होंने बताया कि उनका बड़ा बेटा कार्तिक 4 जनवरी को कनाडा में पढ़ाई करने गया था।कार्तिक ने साहिबाबाद डीएवी स्कूल से 12वीं पास की थी।

उसके बाद आईपी विश्वविद्यालय नोएडा से बीबीए पास करने के बाद बेहतर पढ़ाई के लिए वह कनाडा चला गया। उनका छोटा भाई पार्थ वासुदेव डीएवी स्कूल में 10वीं की पढ़ाई कर रहा है। शोक व्यक्त करने कार्तिक के घर पहुंचे रिश्तेदारों व जानकारों ने बताया कि कार्तिक काफी मिलनसार था। सोसायटी में भी सभी का सम्मान करता था। कार्तिक की मौत से सोसायटी के लोग भी सदमे में हैं।

Back to top button