समाचार

हवाई जहाज से बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम की यात्रा कराएगा रेलवे: IRCTC ने दिया आकर्षक ऑफर

गर्मियों में उत्तराखंड के धामों की तीर्थ यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए रेलवे बड़ा ऑफर लेकर आया है। आईआरसीटीसी ने इस बार बद्रीनाथ और केदारनाथ जैसे पावन तीर्थ स्थलों के लिए टूर पैकेज का ऐलान किया है। सबसे खास बात यह है कि इस बार का टूर ट्रेन से नहीं बल्कि हवाई जहाज का होगा।

कोलकाता से शुरू होने वाले इस टूर पैकेज का सबसे ज्यादा फायदा झारखंड, बिहार और बंगाल के यात्रियों को मिलेगा। इस पैकेज कहीं से भी ऑनलाइन बुक किया जा सकता है। यात्रियों को फ्लाइट से ले जाने और वापस लाने की जिम्मेदारी आईआरसीटीसी की होगी।

20 मई से शुरू होगी ये यात्रा

आईआरसीटीसी की केदारनाथ बद्रीनाथ टूर पैकेज की शुरुआत 20 मई से हो रही है, जो 6 रात और 7 दिनों का होगा। इसके साथ साथ हरिद्वार और ऋषिकेश के तीर्थ स्थलों का भी दर्शन कर सकेंगे। अगर धनबाद के यात्री इस पैकेज का हिस्सा बनना चाहते हैं तो आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन टिकट बुक करा सकते हैं।

इसके साथ ही अगर ऑनलाइन बुकिंग में दिक्कत है तो धनबाद स्टेशन के दक्षिणी छोर पर आईआरसीटीसी के एरिया ऑफिस में जाकर भी टिकट बुक करा सकते हैं। इस पैकेज में प्रति यात्री का खर्च ₹40070 है।

कोलकाता उड़ान भरेगी फ्लाइट

आईआरसीटीसी की फ्लाइट सेवा कोलकाता से मिलेगी। धनबाद या आस-पास के कोई यात्री इस पैकेज का हिस्सा बनना चाहते हैं तो उनके लिए कोलकाता तक ले जाने और यात्रा के बाद धनबाद वापसी की व्यवस्था आईआरसीटीसी की ओर से ही की जाएगी। तीर्थ स्थलों पर खानपान ठहरने और स्थानीय दर्शनीय स्थलों तक आने-जाने की परिवहन सेवा भी आईआरसीटीसी ही मुहैया कराएगी।

आईआरसीटीसी के उप महाप्रबंधक पर्यटन निखिल प्रसाद ने बताया कि धनबाद व आसपास के यात्रियों को 19 मई को ही कोलकाता ले जाने का बंदोबस्त कराया जाएगा, ताकि 20 मई को निर्धारित समय से उन्हें एयरपोर्ट पहुंचने में परेशानी ना हो। टिकट बुकिंग के लिए www.irctctourism.com पर जा सकते हैं या फोन नंबर- 97714 0016 पर किसी भी समय संपर्क कर सकते हैं।

आपको बता दें कि 7 मई को अक्षय तृतीया है और अक्षय तृतीया के दिन से ही देवभूमि के चार धाम के कपाट खुल जाएंगे। केदारनाथ, बद्रीनाथ गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट खुलते ही उन तीर्थ स्थलों पर पर्यटकों की भीड़ उमड़ेगी। 2 वर्षों तक कोरोना की पाबंदियों की वजह से लोग घरों में कैद थे। इस बार पाबंदियां खत्म हुई हैं और ज्यादा से ज्यादा लोग पर्यटन स्थल और तीर्थ स्थलों पर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं।

Back to top button