समाचार

RSS पर फूल बरसाने वाले मुस्लिम डॉक्टर का मौलानाओं ने जीना कर दिया मुहाल, फतवा किया ज़ारी

भारत के मुसलमान अगर भारतीय संस्कृति से प्रेम करें, हिंदुओं के साथ मिलजुल कर रहें तो कई कट्टरपंथी मुसलमानों को ये बात पसंद नहीं आती है। यूपी के मुरादाबाद में हुई घटना इसी बात की तसदीक करती है। मुरादाबाद के मैनाठेर थाना क्षेत्र में आरएसएस के पथ संचलन का स्वागत करना एक मुस्लिम डॉक्टर को भारी पड़ गया। आरएसएस का स्वागत करने वाले मुस्लिम डॉक्टर निज़ाम भारती के खिलाफ फतवा जारी कर दिया गया है।

मुस्लिम डॉक्टर का जीना हुआ मुहाल

इलाके के कट्टरपंथी मुसलमानों ने RSS के कार्यक्रम में शामिल होने पर उनका बॉयकॉट किए जाने और मस्जिद में न घुसने देने की घोषणा भी की है। इस फतवे और बहिष्कार के बाद मुस्लिम डॉक्टर का मोहल्ले में जीना मुहाल हो गया है। थक हार कर मुस्लिम डॉक्टर पुलिस के पास पहुंचे। इसकी शिकायत पुलिस से किए जाने के बाद पुलिस एक्शन में आई और आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है।

दोस्तों के साथ पथ संचलन में गए थे

जानकारी के मुताबिक, मैनाठेर थाना क्षेत्र के महमूदपुर माफी गांव में दो अप्रैल को आरएसएस का पथ संचलन किया गया था। इस कार्यक्रम में गांव के डॉक्टर निजाम भारती ने अपने मित्रों के साथ पथ संचलन में सहयोग प्रदान करते हुए स्वागत किया और पुष्प वर्षा की थी इस बात से कुछ मुस्लिम नाराज हो गए और डॉक्टर निजाम भारती के खिलाफ फतवा जारी कर मस्जिदों में दाखिल न होने देने के साथ ही क़स्बे से भगा देने के लिए फरमान जारी कर दिया गया।

पुलिस ने लिया एक्शन

डॉक्टर निज़ाम भारती ने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज करा दी। आरोप है कि इस मामले में गांव के निवासी इमरान वारसी ने डॉक्टर निजाम भारती को जान से मारने की धमकी दी और उनके खिलाफ फतवा जारी कर दिया था। आरोपी और उसके साथियों ने डॉक्टर को गांव से खदेड़ने और मस्जिद में न घुसने की धमकी दी।

पुलिस ने फ़तवा जारी करने वाले इमरान वारसी के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि मैनाठेर थाना पुलिस ने आरोपी इमरान समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ राजद्रोह समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर इमरान को हिरासत में ले लिया है। पूरे प्रकरण की जांच की जा रही है।

Back to top button