समाचार

तेल खरीदने में भारत का निकल जाता है तेल: सस्ते ऑयल के लिए इन 10 देशों के लगाने पड़ते हैं चक्कर

भारत की अर्थव्यवस्था में तेल का आयात एक बहुत भारी बोझ है। अपने देश की तेल मांग को पूरा करने के लिए हमारे देश को पूरी दुनिया के चक्कर लगाने पड़ते हैं। ताकि उसे सस्ते दाम पर तेल मिल सके और वो देशवासियों की मांग पूरी हो सके। सस्ते तेल पाने के लिए भारत की सरकार और तेल कंपनियां दुनिया के हर कोने में संपर्क करती हैं और काफी मशक्कत के बाद वो तेल खरीद पाती हैं।

रूस-यूक्रेन युद्ध में एशिया के दूसरा सबसे बड़े तेल आयातक देश भारत को रूस की तरफ से सस्ते तेल का ऑफर मिला है। अंतरराष्ट्रीय दबाव और पाबंदियों के बावजूद भारत ने रूस से तेल खरीदने का फैसला लिया है। आज हम आपको दुनिया के उन 10 देशों के बारे में बताएंगे जिनसे भारत सबसे ज्यादा तेल खरीदता है। हम आपको जो डेटा बता रहे हैं वह अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच का है।

इराक

भारत को तेल निर्यात करने में सबसे पहला स्थान इराक का है। इराक भारत का सबसे बड़ा निर्यातक देश है। अप्रैल 2021 से जनवरी 2022 तक भारत ने इराक से 22.24 अरब डॉलर का तेल खरीदा था।

सऊदी अऱब

अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच भारत ने दूसरे नंबर पर सऊदी अरब से सबसे ज्यादा खरीदारी की। इस नौ महीने में भारत द्वारा सऊदी अरब से 16.4 अरब डॉलर का तेल खरीदा।

यूएई

भारत तीसरे नंबर पर यूएई से सबसे ज्यादा तेल की खरीदारी करता है। अप्रैल 2021 से जनवरी 2022 के बीच भारत ने यूएई से 9.02 अरब डॉलर का तेल खरीदा है।

अमेरिका

भारत ने अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच चौथे नंबर पर अमेरिका से सबसे ज्यादा तेल की खरीदारी की है। इस दौरान भारत ने कुल 7.94 अरब डॉलर का तेल अमेरिका से खरीदा।

नाइजीरिया

नाइजीरिया का स्थान पांचवें नंबर पर है। भारत ने अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच 6.8 अरब डॉलर का तेल नाइजीरिया से खरीदा।

कुवैत

भारत कुवैत का भी अच्छा खरीदार देश है। इसका स्थान छठा है। भारत ने अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच कवैत से 5.92 अरब डॉलर का तेल खरीदा था.

मैक्सिको

भारत की तेल आपूर्ति के लिए मैक्सको भी एक बड़ा देश है। इसका स्थान सातवां है। अप्रैल 2021 से जनवरी 2022 के बीच भारत ने मैक्सिको से 2.82 अरब डॉलर का तेल खरीदा था।

ओमान

भारत और ओमान के बीच काफी पुराने व्यापारिक संबंध हैं लेकिन ज्यादा तर ओमान से तेल ही आयात किया जाता है। इसका स्थान 8वां है। भारत ने अप्रैल 2021 से जनवरी 2022 के बीच ओमान से 2.72 अरब डॉलर का तेल खरीदा था।

रूस

साल 2021 में, भारत ने रूस से 1 करोड़ 20 लाख बैरल तेल आयात किया था, जो कि उसके कुल आयात का महज़ 2 फीसदी था। भारत ने यह खरीदारी 2.13 अरब डॉलर में की थी। रूस का स्थान 9वां बै। अब यूक्रेन पर हमले के कारण प्रतिबंधों को झेल रहे रूस ने भारत को काफी सस्ते दाम में तेल ऑफर किया है। अब इसका स्थान ऊपर हो सकता है।

ब्राजील

अप्रैल 2021 से लेकर जनवरी 2022 के बीच भारत को तेल देने के मामले में ब्राजील दसवें स्थान पर रहा। इस दौरान भारत ने ब्राजील से 1.88 अरब डॉलर का तेल खरीदा था। साफ है कि भारत सस्ते तेल खरीदने के लिए पूरी दुनिया के चक्कर लगाता रहता है।

Back to top button