समाचार

दुनिया का पहला हिंदू राष्ट्र बनेगा नेपाल! मुस्लिम और ईसाई देश हो सकते हैं तो हिंदू क्यों नहीं?

नेपाल दुनिया का पहला हिंदू राष्ट्र बन सकता है। नेपाल के एक सीनियर मंत्री ने लोकतांत्रिक व्यवस्था को बरकरार रखते हुए देश को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग का समर्थन किया है। उन्होंने इस सवाल का जवाब देते हुए ये बात कही कि जब लोकतांत्रिक व्यवस्था को अपनाते हुए कोई देश मुस्लिम राष्ट्र या ईसाई राष्ट्र घोषित हो सकता है तो फिर नेपाल क्यों नहीं। उन्होंने नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने का समर्थन करते हुए गुरुवार को कहा कि अगर अधिकतर आबादी इसके पक्ष में है तो इसे जनमत संग्रह के माध्यम से किया जा सकता है।

वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन की बैठक में उठी मांग

पर्यटन और संस्कृति मंत्री प्रेम अले ने काठमांडू में वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन की दो दिवसीय कार्यकारिणी परिषद की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग पर विचार किया जा सकता है, और अगर ऐसी मांग आती है तो वह ‘एक रचनात्मक भूमिका निभाएंगे।’

मंत्री अले काठमांडू में कार्यक्रम के दौरान वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन द्वारा उठाई गई मांग का जवाब दे रहे थे। कार्यकारिणी परिषद की बैठक में नेपाल, भारत, बांग्लादेश, श्रीलंका, मलेशिया, अमेरिका, जर्मनी और ब्रिटेन सहित 12 देशों के 150 से अधिक प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘चूंकि पांच दलों के गठबंधन वाली मौजूदा सरकार को संसद में दो तिहाई बहुमत प्राप्त है, इसलिए नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने की मांग को जनमत संग्रह के लिए रखा जा सकता है।

2008 में नेपाल धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित हुआ

अले कहा कि, ‘हमारे संविधान ने देश को एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित किया है लेकिन अगर बहुसंख्यक आबादी हिंदू राष्ट्र के पक्ष में है तो जनमत संग्रह के माध्यम से नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित क्यों नहीं किया जाय।’

2006 में खत्म हुई हिंदू राजशाही

गौरतलब है कि वर्ष 2006 के जन आंदोलन में हिंदू राजशाही को खत्म किए जाने के बाद नेपाल को 2008 में धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र घोषित किया गया था। नेपाल में अधिकतर हिंदू आबादी है।

कार्यक्रम के दौरान वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन इंटरनेशनल के अध्यक्ष अजय सिंह ने मांग की कि नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए क्योंकि देश में हिंदू आबादी का एक बड़ा हिस्सा रहता है।

इस्लामिक, ईसाई राष्ट्र तो हिंदू राष्ट्र क्यों नहीं

अजय सिंह ने कहा कि, ‘अगर कुछ देशों को इस्लामिक राष्ट्र और ईसाई राष्ट्र घोषित किया जा सकता है और वहां लोकतांत्रिक व्यवस्था भी कायम रह सकती है तो नेपाल को हिंदू लोकतांत्रिक देश घोषित क्यों नहीं किया जा सकता।’ उन्होंने कहा, ‘मैं नेपाली कांग्रेस, सीपीएन-माओइस्ट सेंटर, सीपीएन-यूएमएल और मधेसी दलों से नेपाल को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए आगे आने का आह्वान करता हूं।’

Back to top button