समाचार

‘योगी जी मैं संगीता बोल रही हूं’: फोन आते ही एक्शन, 24 घंटे में शिकायत दूर, आरोपी हिरासत में

योगी 2.0 सरकार में सख्ती और बढ़ गई है। शासन हो, प्रशासन हो या कानून व्यवस्था हर जगह ये सख्ती दिखाई दे रही है। सीएम योगी के प्रति आम और साधारण जनता में इतना भरोसा है कि उन्हें लग रहा कि अब बिना डर-भय के वो जी सकते हैं अपना काम कर सकते हैं।

ऐसा ही एक मामला यूपी के बुलंदशहर में सामने आया जहां माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन आयोग से चयनित महिला को स्कूल ज्वाइन नहीं करा रहा था। उससे स्कूल के मैनेजर और क्लर्क पैसा मांग रहे थे। हैरान-परेशान महिला को जब कुछ समझ में नहीं आया तो उसने सीधे सीएम ऑफिस में फोन लगा दिया। उसके बाद जो हुआ आपको आगे बताते हैं।

सीएम सर मैं संगीता बोल रही हूं..

हैलो… मैं संगीता सोलंकी बोल रही हूं बुलंदशहर से। मुख्‍यमंत्री जी से अनुरोध है कि कृपया मेरी समस्‍या का समाधान करें। सीएम सर से निवेदन है कि मुझे कार्यभार ग्रहण कराने का कष्‍ट करें। मुख्यमंत्री कार्यालय में यह शिकायत पहुंची तो समस्या का समाधान तो हुआ ही, कॉलेज के प्रधानाचार्य और प्रबंधक के खिलाफ मेरठ के लालकुर्ती थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है। प्रबंधक को हिरासत में लेकर शिक्षिका को ज्वाइन करा गया। और निजी मुचलका भरने पर ही प्रबंधक को छोड़ा गया।

महज एक फोन कॉल पर दूर हुई शिकायत

रविवार की सुबह परेशान हाल बुलंदशहर निवासी संगीता सोलंकी ने अपनी समस्‍या के निस्‍तारण के लिए मुख्‍यमंत्री कार्यालय में फोन किया। संगीता की समस्‍या का संज्ञान लेते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने तत्‍काल मेरठ के आला अधिकारियों को शिकायत का निस्‍तारण करने के निर्देश दिए। इसके बाद सोमवार का दिन संगीता सोलंकी के लिए यादगार बन गया।

महज एक फोन कॉल से हुई शिकायत का संज्ञान लिया गया और उनकी समस्‍या का समाधान करते हुए उनको कार्यभार ग्रहण कराया गया। इतना ही नहीं मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश पर दिनभर पुलिस, प्रशासन जांच में जुटा रहा।

प्रिंसिपल और मैनेजर पर केस दर्ज

सोमवार के दिन में प्रबंधक को हिरासत में लेने के बाद अफसरों ने शिक्षिका की ज्वाइनिंग कराई। इसके बाद देर रात एसएसपी के आदेश पर इस मामले में लालकुर्ती थाने में भागीरथी आर्य कन्या इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य और प्रबंधक के खिलाफ आईपीसी की धारा-384 के तहत मुकदमा दर्ज कराया है।

यह है मामला

संगीता सोलंकी ने माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन आयोग प्रयागराज द्वारा आयोजित प्रवक्ता पद ‘हिंदी’ 2021 की लिखित एवं साक्षात्कार परीक्षा उत्तीर्ण की थी। जिसमें उनको आयोग द्वारा मेरठ के भागीरथी आर्य कन्या इंटर कॉलेज आवंटित किया गया। आरोप है नियुक्ति पत्र मिलने के बाद भी उनको प्रबंधक द्वारा कार्यभार ग्रहण नहीं करने दिया जा रहा था। नियुक्ति के लिए उनसे लिपिक व प्रबंधक की ओर से पैसा मांगा जा रहा था। संगीता सोलंकी की समस्‍या का निस्‍तारण करते हुए सीएम ने आला अधिकारियों को तत्‍काल कार्यभार ग्रहण कराने के आदेश दिए थे।

Back to top button