समाचार

‘हम जब 2 थे तब नहीं डरे, अब 302 हैं फिर क्यों डरें’: अमित शाह ने AAP और TMC की बोलती बंद कर दी

दिल्ली MCD के एकीकरण के मुद्दे आम आदमी पार्टी BJP पर डरने का आरोप लगा रही है तो बंगाल में जारी राजनीतिक हिंसा के बीच TMC बीजेपी पर डरने का आरोप लगा रही है। गृह मंत्री अमित शाह ने इन दोनों पार्टियों और दूसरे दलों के आरोपों का संसद में ऐसा जवाब दिया कि उनकी बोलती बंद हो गई।

TMC पर पलटवार

अमित शाह ने बुधवार को कहा कि बीजेपी अपनी विचारधारा, कार्यक्रमों, नेतृत्व की लोकप्रियता और सरकार के प्रदर्शन के आधार पर चुनाव लड़ना और जीतना चाहती है। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस (TMC) समेत विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि हम विरोधी दलों के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा करके सत्ता हासिल नहीं करना चाहते। यह हमारी संस्कृति नहीं है।


AAP पर पलटवार

दिल्ली नगर निगम के चुनाव तत्काल नहीं कराने के पीछे हार का डर होने संबंधी विपक्षी सदस्यों के दावों पर शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में चार राज्यों में सरकार बनाई है। ऐसे में पार्टी कार्यकर्ताओं को डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर छह महीने बाद दिल्ली नगर निगम के चुनाव होंगे तो विपक्षी दल क्यों डर रहे हैं। वे आज ही चुनाव कराने की बात क्यों कर रहे हैं?


लोकसभा में ‘दिल्ली नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2022’ पर चर्चा का जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा कि कुछ सदस्यों का कहना था कि भाजपा हर जगह सत्ता में आना चाहती है, तो उनके लिए जवाब है कि ‘हम चाहते हैं कि सभी जगह हमारी सरकार बने और इसलिये तो चुनाव लड़ते हैं।’


तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘आप (राय) क्यों गोवा गए थे। अब त्रिपुरा क्यों जा रहे हैं। आपका यह अधिकार है, हर पार्टी को चुनाव में उतरना चाहिए। हम सभी जगह चुनाव लड़ना चाहते हैं और अपनी विचारधारा, कार्यक्रमों, नेतृत्व की लोकप्रियता और सरकार के प्रदर्शन के आधार पर जीतना चाहते हैं।’


उन्होंने कहा कि कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस जैसे दल यहां पर लोकतंत्र की बात कर रहे हैं। शाह ने कहा, ‘परिवारों के आधार पर पार्टी चलाने वाले और अपने दलों के भीतर चुनाव नहीं करा पाने वाले भाजपा को लोकतंत्र की सीख नहीं दें। पहले अपने कार्यालय, अपनी पार्टी के भीतर चुनाव करा लें, फिर देश की चिंता करें।’


हम कभी नहीं डरते

शाह ने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी के किसी कार्यकर्ता को डरने की जरूरत नहीं है। हमने चार राज्यों में सरकार बनाई है। आगे भी सभी चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जीत का भरोसा है।’ शाह ने भाजपा के शुरुआती दिनों का जिक्र करते हुए कहा कि ‘हम तो जब 2 थे तब भी नहीं डरते थे, अब 302 हैं तब क्यों डरें।’ उन्होंने कहा, ‘अहंकार की कोई बात नहीं है। जनता का फैसला लोकतंत्र में सभी को स्वीकारना चाहिए। डर का सवाल नहीं है।

Back to top button