समाचार

चुनाव जीतने से पहले योगी आदित्यनाथ ने बहन से किया था ये वादा, अब भी इंतज़ार में है बहन

यूपी में दोबारा सीएम बनकर इतिहास रचने वाले सीएम योगी हालांकि संन्यास ले चुके हैं और एक योगी और संत का जीवन जीते हैं। जिनके लिए सारा संसार ही उनका परिवार है। लेकिन संन्यास से पूर्व जिस परिवार में वो पैदा हुआ, जिन माता-पिता की संतान के रूप में उनका जन्म हुआ और इस नाते जिनके साथ वे भाई और अन्य रिश्ते में बंधे थे, उनकी खुशी का भी ठिकाना नहीं है।

भले ही वो सांसारिक रूप से उनसे दूर हैं लेकिन उनकी इच्छा है कि वो एक बार अपने परिवार से मिलें। इनमें उनकी बड़ी बहन भी हैं जिन्होंने सीएम योगी की जीत के लिए कई दिन तक मंदिर जाकर पूजा की थी। जीत के बाद इन्ही बहन से जब सीएम योगी की बात हुई थी उन्होंने उनसे एक वादा किया था। अब जीत के बाद उस वादे को निभाने की बारी है।

खुशी और जश्न का माहौल

उधर उत्‍तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में यमकेश्वर ब्लाक स्थित पंचुर गांव जो उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पैतृक गांव है वहां जश्न का माहौल है।

मतगणना के दिन उनके पैतृक आवास पर पूरे दिन भजन कीर्तन होते रहे, पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ स्वजन और ग्रामीण नृत्य करते रहे। योगी आदित्यनाथ की माता सावित्री देवी और स्वजन बेहद खुश नजर आ रहे थे।

सीएम योगी ने किया था ये वादा

भगवान नीलकंठ महादेव और कुल देवी माता भुवनेश्वरी से भाई योगी की सफलता के लिए प्रार्थना करने वाली उनकी बहन शशि पयाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के रूप में सुशासन और सत्य की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के बाद अपने भाई से बात की थी। योगी आदित्‍यनाथ ने उनसे वादा किया था कि शपथ ग्रहण करने के बाद समय मिलते ही वह एक बार सबसे मिलने गांव आएंगे

अपने पुत्र के दूसरी बार यूपी के मुख्‍यमंत्री बनने पर मां सावित्री देवी बेहद खुश हैं। योगी आदित्‍यनाथ के भाई मानवेंद्र बिष्ट और महेंद्र बिष्ट ने भी खुशी व्‍यक्‍त की और इसे योगी के सुशासन की जीत बताया।

योगी आदित्यनाथ की मां से मिलने पहुंचे कई लोग

इधर सीएम योगी के गांव में उनके फैंस का तांता लगा हुआ है। लोग वहां पहुंच कर परिवार को बधाई दे रहे हैं और योगी की मां से आशीर्वाद भी ले रहे हैं। ऋषिकेश से मिठाई और गुलाल लेकर गए प्रशंसक योगी आदित्यनाथ के गांव में उनकी सफलता के जश्न उनके गांव पहुंचे थे। ऋषिकेश निवासी ललित शर्मा लक्की, राजू बड़थ्वाल, गौरव, लोकेश कुमार, विशाल बंसल अपने साथ 15 किलो रसगुल्ले और गुलाल लेकर पहुंचे थे। इन सभी ने सावित्री देवी का आशीर्वाद लिया

Back to top button